क्रिकेट नियमों में बड़े बदलाव: अब खिलाड़ी रहें सावधान नहीं तो अंपायर कर देगा मैदान से बाहर

balram singh

Publish: Mar, 08 2017 04:30:00 (IST)

Sports
क्रिकेट नियमों में बड़े बदलाव: अब खिलाड़ी रहें सावधान नहीं तो अंपायर कर देगा मैदान से बाहर

इसके तहत अत्यधिक अपील और अंपायर के फैसले पर आपत्ति जताना शामिल है। पहले आधिकारिक चेतावनी दी जाएगी और फिर लेवल एक के दूसरे अपराध पर विरोधी टीम को पांच पेनल्टी रन दिए जाएंगे।

क्रिकेट में अब बड़े बदलाव होने जा रहे हैं। अब पहले की तरह खिलाड़ी एकदूसरे से बहस नहीं कर पाएंगे। एमसीसी ने क्रिकेट से जुड़े नए नियम जारी किए हैं। नए नियमों के अनुसार व्यवहार से जुड़े गंभीर उल्लंघन के मामलों में अंपायरों को खिलाड़ियों को मैदान से बाहर भेजने का अधिकार होगा। साथ ही अब रन आउट के भी नियम बदल गए हैं। यह नियम एक अक्तूबर 2017 से लागू होंगे।



ये हैं बदलाव

1. क्रिकेट के नए नियमों के अनुसार अगर किसी खिलाड़ी का मैदान पर व्यवहार खराब रहा तो अंपायर के पास अधिकार रहेगै कि वे उस खिलाड़ी को मैदान से बाहर भेज सकते हैं। अक्टूबर से क्रिकेट अंपायर के पास भी ऐसा अधिकार होगा।



2. अब मैदान में टीम का या खिलाड़ी का व्यवहार खराब हुआ तो पेनल्टी के रूप में विपक्षी टीम को पांच रन के साथ-साथ खिलाड़ी को पूरे मैच से सस्‍पेंड भी किया जा सकता है।



3. एमसीसी ने बल्ले के आकार को लेकर भी सीमाएं तय की है। अब बैट की चौड़ाई 108mm  और गहराई 67mm होगी। इस नियम से गेंदबाज और बल्लेबाज दोनों को बराबरी का मौका मिलेगा।



4. रन आउट के नियम में भी बदलाव किया गया है, जिसके तहत अगर बल्ला और खिलाड़ी एक बार क्रीज क्रॉस कर लेता है तो उसके बाद बल्लेबाज को आउट नहीं दिया जाएगा चाहे गेंद के स्टंप में लगते वक्त उसका बल्‍ला हवा में ही क्‍यों न हो।



नियमों को लेकर एमसीसी के क्रिकेट प्रमुख जान स्टीफनसन ने कहा, "हमें लगता है कि समय आ गया है कि खिलाड़ियों के खराब बर्ताव के लिए सजा लागू की जाए और शोध बताते हैं कि जमीनी स्तर पर उभरते हुए अंपायर इसके कारण खेल से दूर हो रहे हैं." उन्होंने कहा, "उम्मीद करते हैं कि ये सजाएं अनुशासनात्मक मामलों से निपटने के लिए उन्हें अधिक आत्मविश्वास देंगी और साथ ही खिलाड़ियों को ऐसा करने से रोकने का काम करेंगी।"



मिलेगी सजा

लेवल 1: इसके तहत अत्यधिक अपील और अंपायर के फैसले पर आपत्ति जताना शामिल है। पहले आधिकारिक चेतावनी दी जाएगी और फिर लेवल एक के दूसरे अपराध पर विरोधी टीम को पांच पेनल्टी रन दिए जाएंगे। 



लेवल 2: खिलाड़ी की तरफ गेंद फेंकना या खेल के दौरान जानबूझकर विरोधी से शारीरिक भिड़ंत करने पर भी विरोधी टीम को तुरंत पांच पेनल्टी रन दिए जाएंगे।



लेवल 3: अंपायर को डराना या किसी अन्य खिलाड़ी, टीम अधिकारी या दर्शक को मारने की धमकी देना। इसके तहत विरोधी टीम को पांच पेनल्टी रन मिलेंगे और दोषी खिलाड़ियों को मैदान से बाहर कर दिया जाएगा।



लेवल 4: अंपायर को धमकाना या मैदान पर कोई भी हिंसक काम करना। पांच पेनल्टी रन और बाकी मैच के लिए दोषी खिलाड़ी मैच से बाहर। अगर अपराध के समय खिलाड़ी बल्लेबाजी कर रहा होगा तो उसे रिटायर्ड आउट माना जाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned