4 साल की बच्ची को देख पीएम मोदी ने रुकवाया काफिला, खुश होकर दिया आर्शीवाद

State
4 साल की बच्ची को देख पीएम मोदी ने रुकवाया काफिला, खुश होकर दिया आर्शीवाद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लीक से अलग हटकर कुछ अनूठा और अनोखा करने के लिए जाने जाते हैं. इसकी नज़ीर सूरत में एक बार फिर दिखी। पीएम मोदी जब सर्किट हाउस से रवाना हुए तो कतारगांव में कई छोटे बच्चे उनको निहार रहे थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लीक से अलग हटकर कुछ अनूठा और अनोखा करने के लिए जाने जाते हैं. इसकी नज़ीर सूरत में एक बार फिर दिखी। पीएम मोदी जब सर्किट हाउस से रवाना हुए तो कतारगांव में कई छोटे बच्चे उनको निहार रहे थे। दरअसल, सोमवार को पीएम मोदी का काफिला किरण मल्टी सुपर स्पेशिएलिटी हास्पिटल एंड रिसर्च सेंटर से निकलकर एयरपोर्ट की तरफ  जा रहा था। 



इस दौरान 4 साल की बच्ची नैंसी गोंदालिया को पीएम की गाड़ी के पास आता देख सुरक्षाकर्मी ने उसे रोकते हुए वापस लौटने का इशारा किया, तभी पीएम मोदी ने अपने सुरक्षाकर्मी को इशारा किया और उस बच्ची को अपने पास बुलाने को कहा। प्रधानमंत्री ने बच्ची से मुलाकात की। 


पीएम ने उससे बातें की और फिर वह बच्ची खुश होकर वापस अपने परिजनों के पास भीड़ में लौट गई। इस बीच बच्ची के पिता सामने खड़े होकर दोनों की तस्वीरें खींचते रहे। यह नजारा देख मोदी के प्रशंसक उनके नाम का नारा लगाने लगे।


बच्ची ने पीएम मोदी से पूछा कि कौन सी घड़ी पहने हो। इसके बाद पीएम मोदी ने उसे आर्शीवाद भी दिया। नैंसी के पिता सूरत में हीरा कामगार हैं। परिजनों ने बताया कि नैंसी पीएम मोदी से मिलने के लिए सुबह से तैयार हो गई थी। 



सूरत में बोले PM माेदी, जन सहयोग के बिना नहीं चल सकता देश, जनता की मेहनत आैर सेवा से ही संचालन संभव


इससे पहले इससे पहले अपनी गुजरात यात्रा के दूसरे दिन समस्‍त पाटीदार स्‍वास्‍थ्‍य ट्रस्ट की ओर से निर्मित  किरण मल्‍टीसुपर स्‍पेशियलिटी हाईटेक अस्पताल का उद्धाटन करने के बाद पीएम नो एक जनसभा को संबोधित किया। 



मेगा रोड शो: 11 किमी लम्बे रोड शो में मोदी की एक झलक पाने सड़कों पर उमड़ा हुजूम



हमारी सरकार ने दवाओं के दाम घटाए

पीएम मोदी ने कहा कि जिसका शिलान्यास मैं करूंगा, उसका उद्धाटन भी मैं करूंगा। सूरत में मुझे पहले वाला अपनापन मिलता है। खेडू समुदाय की तारीफ  करते हुए पीएम ने कहा कि गुजरात के खेडू परिवार के संस्कार बहुत ऊंचे होते हैं, ये लोग गांव में मिट्टी खाकर बड़े हुए हैं और मैं खेडू परिवारों के बीच में पला बड़ा हूं।  



राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में बोले पीएम मोदी-कष्ट में मुस्लिम बहनें, हमें समाधान करना चाहिए



पीएम ने कहा कि यह अस्पताल परिश्रम से बना है। पैसों से ज्यादा मूल्य पसीने का है। मैं चाहूंगा कि इस अस्पताल में किसी को आने की जरूरत न पड़े और अगर आए भी तो इतना मजबूत होकर जाए कि दोबारा न आना पड़े।हमारी सरकार ने स्टेंट के दाम घटाए, 40 हजार के स्टेंट को 7 हजार रुपये का कराया। 



जेनरिक दवाओं के लिए सरकार नया कानून बनाएगी। सबको आरोग्य सेवा देना सरकार की जिम्मेदारी है। हमने 700 दवाइयों के दाम तय किए। 15 साल बाद सरकार हेल्थ पॉलिसी लाई है, सबको आरोग्य सेवा देना सरकार की जिम्मेदारी है। मेरे काम से रोज कोई न कोई नाराज होता है, दवाई बनाने वाले मुझसे नाराज होंगे, क्योंकि दवाइयां सस्ती कर दी हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned