सत्संग के आयोजन पर कलश यात्रा में उमड़े श्रद्धालु

pawan sharma

Publish: Jun, 18 2017 09:18:00 (IST)

Tonk, Rajasthan, India
सत्संग के आयोजन पर कलश यात्रा में उमड़े श्रद्धालु

सत्संग के आयोजन को लेकर महिलाएं सिर पर कलश लेकर बैण्ड-बाजे के साथ रवाना हुई। सबसे आगे घोड़ी पर सवार युवक ध्वज पताकाएं लेकर चल रहे

निवाई. निकटवर्ती गांव खणदेवत में शनिवार को संत अमरदास के सान्निध्य में सत्संग के आयोजन को लेकर कलशयात्रा निकाली गई। यात्रा को पण्डित मोहनलाल शर्मा ने बावड़ी के बालाजी मन्दिर से पूजा-अर्चना कर रवाना किया। इसमें 101 महिलाएं सिर पर कलश लेकर बैण्ड-बाजे के साथ रवाना हुई। सबसे आगे घोड़ी पर सवार युवक ध्वज पताकाएं लेकर चल रहे थे। डीजे पर बज रहे भजनों पर श्रद्धालुओं ने जमकर नृत्य किया।  श्रद्धालुओं ने जगह-जगह  पुष्प वर्षा कर यात्रा का स्वागत किया। ये यात्रा बगुड़े वाले बाबा के आश्रम पहुंची। जहां पण्डितों ने मंत्रोच्चार  के साथ हवन कुण्ड में आहुतियां दिलवाई। 



कीर्तन की है रात...

यहां निजी विद्यालय में शुक्रवार रात भजन संध्या का आयोजन किया गया। इसकी शुरुआत मुख्य अतिथि व माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष भरत राम, विद्या भारती के जिला सचिव महेश कुमार शर्मा, ब्रजमोहन खण्डेलवाल ने मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलित कर की। राजू खण्डेलवाल ने 'कीर्तन की है रात बाबा आज थाने आणों है 'चलो बुलावा आया है श्याम ने बुलाया है, 'दरबार तेरा सांवरिया किसने सजाया है, 'वो किस्मत वाले होते हैं जिन्हें श्याम बुलाता है तथा 'मैया का चौला है रंगीला सहित कई भजनों की प्रस्तुतियां दी। महेश दरगड़ ने भी कई भजनों की प्रस्तुति दी। इस अवसर पर देवली संकुल प्रभारी अशोक विजय, टोंक संकुल प्रभारी मनोज शर्मा, प्रधानाचार्य सुरेश पारीक, बालिका विद्यालय की प्रधानाचार्या सीमा माथुर भी थी। 


यज्ञ में दी आहुतियां

मालपुरा . सोडा बावड़ी गांव के तालाब की पाळ स्थित यज्ञ शाला में चल रहे पंचकुण्डीय श्रीराम महायज्ञ में श्रद्धालुओं ने मंत्रोच्चार के साथ आहुतियां दी। ग्रामीणों की ओर से आयोजित कार्यक्रम में आचार्य मलखान सिंह के सान्निध्य में पं. नाथूलाल शर्मा ने आहुतियां दिलवाई। यज्ञ का समापन रविवार को होगा।


ग्रामीणों ने खुशहाली व समृद्धि की कामना

बंथली. दूनी सहित आसपास की ढाणियों के लोगों ने शनिवार को दूणजा माता मंदिर में माता के पौशाक चढ़ा खुशहाली व समृद्धि की कामना की। उपसरपंच जसवंतसिंह शेखावत ने बताया कि क्षेत्र में खुशहाली व समृद्धि की कामना को लेकर दूनी कस्बा सहित तैलोलाय, दुर्गापुरा, देवुपरा ढाणी के पंच-पटेलों सहित सैकड़ों ग्रामीणों ने माता के पौशाक चढ़ाकर मन्नत मांगी। पूर्व सरपंच भंवरलाल जाट ने बताया कि प्रतिवर्ष माता दूणजा को कस्बे की ओर से पोशाक चढ़ाकर अच्छे जमाने की मन्नत मांगी जाती है। इस मौके पर रंगलाल रोझ, रामपाल साहू, विष्णुप्रसाद झंवर, रामनारायण तिवाड़ी, भगवान माथुर, भंवरलाल भोपा आदि मौजूद थे। 


बनेठा . बाग के बालाजी मंदिर परिसर में हनुमानजी की मूर्ति प्राण-प्रतिष्ठा का कार्यक्रम के तहत शनिवार को कलश निकाली गई। श्रीजी के मंदिर से पण्डित रामकृष्ण शास्त्री के वैदिक मंत्रोच्चार के बीच 351 महिलाएं सिर पर कलश धारण कर एवं भगवान को पालकी में विराजमान कर रवाना हुई, जो विभिन्न मार्गों मुख्य बाजार, बस स्टैण्ड होते हुए बाग के बालाजी के मंदिर परिसर पहुंची।



 जहां हनुमान जी के मंदिर में कलशों की स्थापना की गई। इसके बाद आचार्य रामकृष्ण शर्मा के सान्निध्य में अखण्ड ज्योति जलाकर गणेशजी स्थापना की गई। गणेशजी की पूजा-अर्चना के बाद ब्राह्मण वरण, हनुमान चालीसा, सुन्दरकाण्ड, बजरंग बाण एवं अखण्ड रामायण के पठन का कार्यक्रम शुरू हुआ। इसके बाद प्राचीन मूर्ति का विसर्जन किया गया। वहीं हनुमान जी की मूर्ति को धान्यावास में रखा गया। वहीं हवन कुण्डों में अग्नि स्थापना का कार्यक्रम आयोजित किया गया। 



बरसात के लिए भगवान को रिझाया

लाम्बाहरिसिंह . अच्छी बरसात की कामना को लेकर कस्बे के सभी मंदिरों में शनिवार को झांकियां सजाकर पूजा-अर्चना की गई। घर-घर पकवान बनाकर भोग लगाया गया। इधर जामा मस्जिद में रोजदारों ने भी नमाज के बाद अच्छी बरसात की दुआ मांगी। क्षेत्र के भोपालाव स्थित पंचमुखी शिव मंदिर में मंदिर विकास समिति की ओर से भोलेनाथ की झांकी सजाई गई।  



शिव प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव आज से

निवाई. गांव बरथल स्थित श्रीआणन्दानाथजी गुरु गोरक्षनाथ व शिव प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव का आयोजन रविवार को किया जाएगा।  रतिराम ने बताया कि रविवार को कलश यात्रा निकाली जाएगी। पूर्णाहुति सोमवार को होगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned