सालों से चली आ रही इस प्रथा को निभाने जुटता है पूरा गांव, जानिए कौन-सी प्रथा निभा रहे हैं यहां के लोग...

madhulika singh

Publish: Jun, 11 2017 05:36:00 (IST)

Udaipur, Rajasthan, India
सालों से चली आ रही इस प्रथा को निभाने जुटता है पूरा गांव, जानिए कौन-सी प्रथा निभा रहे हैं यहां के लोग...

वल्लभनगर तहसील के रूंडेडा गांव में कलश यात्रा निकाली गई और गांव दांगड़ी का आयोजन किया गया

वल्लभनगर तहसील के रूंडेडा गांव में रविवार को एक ऐतिहासिक नजारा देखने को मिला हर किसी के जुबान पर एक ही शब्द क्या कलश यात्रा थी । बात है गांव के मेनारिया समाज के  36 जोड़े 20 दिन की उतराखंड सहित आस-पास के तीर्थ स्थानों की यात्रा कर लौटे हैं , उन्होंने इस अवसर पर गांव दांगड़ी का आयोजन किया गया । 




READ MORE: राजस्थान का ये किसान बन गया है मिसाल, जैविक खेती कर दुनिया को परोस रहा शुद्ध अनाज



दांगड़ी का अर्थ यात्रा कर लौटने वाले श्रद्धालु गांव में मिल कर महाप्रसादी का आयोजन करते हैं । जिसमें  दांगड़ी करने वाले के रिश्तेदार सहीत मेनारिया समाज के वाना मेनार खरसाण इंटाली , खेरोदा बांसडा बाठरडा खुर्द आदि कई गांवों के लोग इसमें भाग लेते हैं । आज भी इस भव्य कार्यक्रम में हजारों की तादाद में लोग  आए । सुबह करीब 10 बजे गांव के प्रमुख स्थानों  से कलश यात्राा निकाली  गई जो करीब 1 बजे  तक चली  जिसमें 1500 महिलाएं कलश धारण करते हुए चलीं ।  इसके बाद शाम को  महाप्रसादी दांगड़ी का आयोजन किया गया जिसमें हजारों की संख्या में लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया । कलश यात्रा में  महिलाएं  व पुरुष मेवाड़ी वेशभूषा में आए । यह प्रथा सालों से चली आ रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned