अब पुलिस वाहनों पर लगेंगी बहुरंगी बत्तियां व स्टीकर, बिना स्टीकर बत्ती लगाने वाले वाहन होंगे अवैध, जानिए कौनसे वाहन होंगे इसमें शामिल

Udaipur, Rajasthan, India
अब पुलिस वाहनों पर लगेंगी बहुरंगी बत्तियां व स्टीकर, बिना स्टीकर बत्ती लगाने वाले वाहन होंगे अवैध, जानिए कौनसे वाहन होंगे इसमें शामिल

अब पुलिस अधिकारियों और कानून व्यवस्था व गश्त में लगे पुलिस वाहनों पर बहुरंगी बत्तियां लगेंगी। इसके लिए अधिकारियों को परिवहन विभाग से बाकायदा स्टीकर लेना होगा।

अब पुलिस अधिकारियों और कानून व्यवस्था व गश्त में लगे पुलिस वाहनों पर बहुरंगी बत्तियां लगेंगी। इसके लिए अधिकारियों को परिवहन विभाग से बाकायदा स्टीकर लेना होगा। यह स्टीकर वाहन के विंड एंड स्क्रीन पर ही लगा रहेगा। बिना स्टीकर लगे वाहन पर बत्ती लगी है तो वह अधिकृत नहीं माना जाएगा। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक प्रशासन, कानून-व्यवस्था एन.आर.के रेड्डी ने इस संबंध में जिला पुलिस से जिला यूनिट, वाहन के पंजीयन संख्या, वाहन का उपयोग करने वाले अधिकारी एवं उनका पदनाम, वाहन का उपयोग किस प्रकार की ड्यूटी में किया जा रहा है जैसी जानकारियां परिवहन आयुक्त जयपुर को भिजवाने के आदेश जारी किए हैं। 


आदेश में बताया कि मोटर वाहन कानून के अंतर्गत पुलिस विभाग में कानून व्यवस्था ड्यूटी तथा प्राकृतिक आपदा प्रबंधन में लगे वाहन में लाल, नीली, सफेद रंग वाली बहुरंगी लाइट का उपयोग किया जा सकेगा।  



READ MORE: उदयपुर में यहां बिना सोचे समझे लगा दिए टावर, अब खुद के खर्चे पर हटाने होंगे, इतना खर्चा करना होगा वहन





यह वाहन होंगे शामिल 


-ऐसे सभी वाहन जो पुलिस थाने, यातायात पुलिस, पुलिस नियंत्रण कक्ष तथा कानून व्यवस्था ड्यूटी में पुलिसकर्मियों को लाने ले जाने के लिए पुलिस लाइन में प्रयुक्त किए जाते हों।

-शहरी क्षेत्रों में गश्त में प्रयोग होने वाले चेतक, उडऩदस्ते व यातायात के अन्य वाहन।

-राज मार्गों पर गश्त के लिए प्रयुक्त होने वाले हाईवे पेट्रोलिंग वाहन।

-सभी इंटरसेप्टर वाहन।

-अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त जो जिला एवं पुलिस आयुक्तालय में पदस्थापित हैं।

-जिला पुलिस अधीक्षक, समस्त पुलिस उपायुक्त, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त तथा पुलिस आयुक्त के वाहन।

-आरएसी बटालियन, एमबीसी, हाड़ी रानी, ईआरटी द्वारा प्रयुक्त वाहन।

-प्राकृतिक आपदा प्रबंधन में पुलिस द्वारा प्रयुक्त किए जाने वाले सभी वाहन। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned