उदयपुर में अधिकारी-नेताओं ने हटाई लालबत्ती, जनता बोली-खास और आम का फर्क खत्म

Udaipur, Rajasthan, India
उदयपुर में अधिकारी-नेताओं ने हटाई लालबत्ती, जनता बोली-खास और आम का फर्क खत्म

उदयपुर में भी इसका असर दिखा। प्रभारी मंत्री धनसिंह रावत बिना लालबत्ती लगी गाड़ी में ही मीटिंग लेने उदयपुर आए। जिला प्रमुख शांतिलाल मेघवाल,कलक्टर,आईजी एसपी की गाडिय़ों पर लालबत्तियां उतर गई।

मोदी सरकार ने वीआईपी कल्चर खत्म करने के लिहाज से लालबत्तियों का प्रयोग बंद करने का निर्णय किया। इस निर्णय का आम जनता ने स्वागत किया है। सरकार ने जो आदेश जारी किया उसको लेकर 1 मई से कहीं पर लालबत्ती का प्रयोग अब नहीं हो सकेगा। इस निर्णय के तुरंत बाद राजस्थान में लालबत्ती मंत्री से लेकर संत्री तक की लाल बत्तियां हट गई। 



मुख्यमंत्री तो काफी पहले से ही लालबत्ती का प्रयोग नहीं कर रही थी लेकिन जैसे ही केन्द्र सरकार ने यह निर्णय किया प्रदेश के तमाम मंत्रियों-अधिकारियों ने लाल बत्तियों को हटवा दिया। उदयपुर में भी इसका असर दिखा। प्रभारी मंत्री धनसिंह रावत बिना लालबत्ती लगी गाड़ी में ही मीटिंग लेने उदयपुर आए। जिला प्रमुख शांतिलाल मेघवाल,कलक्टर,आईजी एसपी की गाडिय़ों पर लालबत्तियां उतर गई। अब केवल पुलिस गाडिय़ों पर नीली बत्ती दिखेगी। इसके अलावा एम्बुलेंस, फायर ब्रिगेड पर नीली बत्ती लग सकेगी। 



READ MORE: VIP कल्चर पर पीएम मोदी के फैसले का असर, समय से पहले मंत्रियों ने हटाई लालबत्ती



सरकार के इस निर्णय की चर्चा हर तरफ  रही। उदयपुरवासियों ने इस निर्णय की खुले मन से तारीफ  की और  कहा कि देश में खास आम के बीच का फर्क खत्म होगा। कई छोटे-मोटे नेता उनके परिवार के लोग भी अवैध रूप से लालबत्ती लगाकर गाडिय़ों में घूमते थे वह भी अब खत्म हो जाएंगे। 


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned