#SMARTCITYSMARTPARK: पत्रिका अभियान बनने लगा 'ग्रीन उदयपुर' का आधार, रंग ला रही मुहिम

Udaipur, Rajasthan, India
#SMARTCITYSMARTPARK: पत्रिका अभियान बनने लगा 'ग्रीन उदयपुर' का आधार, रंग ला रही मुहिम

जन सहभागिता से बनेगी ग्रीन सिटी, शहर के कई क्षेत्रों में उद्यानों का कायाकल्प

पिछले कुछ दिनों से मेल तथा वाट्स एप पर कई क्षेत्रों से मिली जानकारियां और फोटो से एक बात तो स्पष्ट हो गई किग शहर के कई उद्यान उपेक्षित हैं। जिनके बारे में निगम और जिम्मेदार विभाग कागजों और आंकड़ों के जरिए लगातार उन्हें संवारे तथा संरक्षित करने के दावे करते रहे हैं। 



क्षेत्रवासी विशेष रूप से बच्चे और वरिष्ठजन इन उद्यानों का कायाकल्प देखना और करना चाहते हैं। वरिष्ठजनों के विभागों के चक्कर लगाने और आला अफसरों के आश्वासन के बाद भी सभी जगह उद्यान खस्ताहाल हैं। इनके टूटे गेट, झूले और दीवारें, उखड़े फुटपाथ, बिखरे कचरे के ढेर, उगी कंटीली झाडि़यां, गायब ट्री गार्ड के अलावा बोरिंग, कुर्सियां और माकूल बिजली व्यवस्था की कमी हर दूसरे पार्क में दृष्टिगत हो जाती है। भुवाणा विस्तार योजना में यूआईटी पार्क के रख रखाव के संबंध में श्यामनगर वेलफेयर सोसाइटी पिछले दो वर्षों से पत्र व्यवहार करती रही है। इसके बावजूद करीब 200 पौधों को पानी देने के लिए लगाया बोरवैल खराब पड़ा है। इसके अलावा पार्क से नदारद हरी दूब, बच्चों के लिए झूले और चारदीवारी की रंगाई-पुताई भी  प्रशासन के सहयोग को तरस रहे हैं। 



READ MORE: उदयपुर की झीलों पर अब नहीं लगेगा मौत का दाग: निजी फर्म ने प्रशिक्षित गोताखोर को दिलाया स्कूबा डाइविंग का प्रशिक्षण, खरीदे 2 डाइविंग सूट



सहभागिता से हुआ विकास

इधर, गोवर्धनविलास सेक्टर-14 स्थित हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में  करीब तीन वर्ष पूर्व दीनदयाल पार्क को आरएसएसएम के सहयोग से  विकसित किया गया। यह ठीक है कि वर्तमान में पर्याप्त सार-संभाल के चलते यह पार्क पर्यावरण की दृष्टि से सुन्दर रूप ले चुका है। फिर भी, निगम के पिछले बोर्ड में लगे विद्युत पोल अब तक लाइट लगाए जाने का इंतजार ही कर रहे हैं। एेसे में अक्सर शाम को अंधेरे का फायदा उठाकर समाजकंटक असामाजिक गतिविधियों को अंजाम दे देते हैं। गौरतलब है कि इस बारे में पूर्व में कई मर्तबा पार्षद, मेयर और संबंधित थाने में शिकायत भी दर्ज करा चुके हैं।  

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned