उदयपुर की महिला ने की स्पेन में धार्मिक पदयात्रा, देश की पहली महिला होने का दावा जिसने यह यात्रा पूरी की

Ashish Joshi

Publish: Jul, 12 2017 10:49:00 (IST)

Udaipur, Rajasthan, India
उदयपुर की महिला ने की स्पेन में धार्मिक पदयात्रा, देश की पहली महिला होने का दावा जिसने यह यात्रा पूरी की

मादड़ी स्थित एक निजी कंपनी की निदेशक 32 वर्षीय श्वेता दुबे ने हाल ही में यह धार्मिक पदयात्रा पूरी की है। श्वेता ने बताया कि भारत में बद्रीनाथ-केदारनाथ जैसी धार्मिक यात्रा का महत्व स्पेन में केमिनो डी सेन्टियागो नामक यात्रा का है।

शहर की  एक महिला ने स्पेन की केमिनो डी सेंटियागो नामक 800 किलोमीटर की धार्मिक यात्रा की है। यह यात्रा करने वाली श्वेता दुबे का दावा है कि वह देश की पहली महिला है, जिसने यह यात्रा पूरी की है। 

मादड़ी स्थित एक निजी कंपनी की निदेशक 32 वर्षीय श्वेता दुबे ने हाल ही में यह धार्मिक पदयात्रा पूरी की है। श्वेता ने बताया कि भारत में बद्रीनाथ-केदारनाथ जैसी धार्मिक यात्रा का महत्व स्पेन में केमिनो डी सेन्टियागो नामक यात्रा का है। 




READ MORE: Ajab-Gajab: कपड़े उतारे तो भिखारी निकला 'मालामाल', फूले हुए पेट का इस तरह खुला राज





13वीं शताब्दी में स्पेन के सेन्ट जेम्स नामक व्यक्ति ने पहली बार यह यात्रा की थी, जो आज तक जारी है। एक माह तक चली यात्रा 1 जून को सेंट जिन पिक डी पोर्ट नामक शहर से शुरू हुई और 30 जून को सेन्ट डी यागो नामक शहर के कैथेड्रिल चर्च में सम्पन्न हुई। वहां के आंकड़ों के अनुसार बीते 4 वर्षों में भारत से मात्र 15 पुरुषों ने यह यात्रा की है। 




READ MORE: कुलपति प्रो. सोड़ानी ने जनजातीय विवि को लेकर कही ये बात, 19 जुलाई से संभालेंगे पदभार





दुबे ने बताया कि इसके आगे 100 किमी की यात्रा स्पेन के अंतिम छोर फिनिस्तरे की है। कहा जाता है कि केमिनो डी सेन्टियागो की यात्रा करने वाले यदि फिनिस्तरे की यात्रा नहीं करते हैं तो यात्रा अधूरी मानी जाती है। श्वेता ने बताया कि 4 वर्ष पूर्व इस यात्रा को उनके पति मधुकर दुबे भी पूरी कर चुके है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned