घर लौटने की बेताबी में घिस गर्इ चप्पलें, अदालती कार्रवार्इ के चलते पैदल तय की 1000 किमी की दूरी

Abhishek Pareek

Publish: Nov, 30 2016 01:17:00 (IST)

World
घर लौटने की बेताबी में घिस गर्इ चप्पलें, अदालती कार्रवार्इ के चलते पैदल तय की 1000 किमी की दूरी

एक भारतीय ने वतन वापसी की कोशिश में एक हजार किमी से अधिक दूरी की यात्रा पैदल ही तय कर डाली। इस शख्स ने अदालती कार्यवाही में भाग लेने के लिए दो साल में ये यात्रा की।

एक भारतीय ने वतन वापसी की कोशिश में एक हजार किमी से अधिक दूरी की यात्रा पैदल ही तय कर डाली। इस शख्स ने अदालती कार्यवाही में भाग लेने के लिए दो साल में ये यात्रा की। इस पर एक अखबार ने खबर प्रकाशित की तब जाकर ये मामला दुनिया के सामने आया। 



एक विदेशी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, जगन्नाथन सेल्वाराज (48) ने बताया कि वह तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली का निवासी है। उसने अखबार को भारी यातायात, गर्मी, रेत की आंधी और थकान की परवाह किए बगैर श्रम न्यायालय की कार्यवाही में भाग लेने आने की अपनी कहानी बताई।



सेल्वाराज की ये यात्रा तमिलनाडु में उसकी मां की मौत के बाद शुरू हुई। तब उसे मां के अंतिम संस्कार में भाग लेने जाने की इजाजत नहीं मिली थी। ये मामला करीब दो साल चला। सेल्वाराज ने कहा कि उसे सोनापुर से दुबई के करामा जिले में कम से कम 20 बार जाना पड़ा। उसके लिए चार घंटे में 50 किलोमीटर से अधिक दूरी पैदल तय करना जरूरी था।



उसने बताया कि वह सोनापुर में जहां रहता है, वहां से दुबई के बाहरी इलाके में स्थित श्रम न्यायालय तक जाने के लिए बस का किराया नहीं चुका सकता। सेल्वाराज ने अखबार को बताया कि वह कई महीने से एक सार्वजनिक पार्क में रह रहा है और भारत लौटने के लिए बेचैन है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned