बारूद की ढेर से निकली बस्तर की बेटी, बड़े शहरों के बच्चों के साथ इस खेल में दिखाएगी अपना हुनर

बारूद की ढेर से निकली बस्तर की बेटी, बड़े शहरों के बच्चों के साथ इस खेल में दिखाएगी अपना हुनर

Badal Dewangan | Publish: Sep, 04 2018 01:04:41 PM (IST) Sukma, Chhattisgarh, India

गादीरास की बेटी का क्रिकेट टीम में चयन, फिर से एक बार सुकमा का नाम रोशन करने के लिए तैयार गादीरास की प्रांजल भदौरिया

गादीरास. सुकमा जिले के छोटे से ग्राम पंचायत गादीरास की बेटी प्रांजल भदौरिया का चयन ड्यूज बाल क्रिकेट के अंडर 16 की टीम में हुआ है। कुछ दिन पहले बस्तर संभाग की ओर से प्रांजल भिलाई में ट्रायल के लिए गई थी जिसकी प्रतिभा को देखते हुय उसका चयन बॉलर के रूप में हुआ है। प्रांजल लेफ्ट हैंड मीडियम पेेस बॉलर है। साथ ही साथ वह अच्छी बैटिंग भी कर लेती है ।

दुर्ग में 4-5-6 सितंबर तक मैच चलेंगे जिसमे प्रांजल का भी चयन हुआ है
प्रांजल दुर्ग में आज से होने वाले मैच में भाग लेगी इस दौरान रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, भिलाई की लड़कियों के साथ प्रांजल भी अपनी प्रतिभा दिखाएगी। बस्तर के कोच ने बताया की दुर्ग में 4-5-6 सितंबर तक मैच चलेंगे जिसमे प्रांजल का भी चयन हुआ है। अगर प्रांजल अपनी जगह चयनित 30 खिलाडिय़ों में अपनी जगह बनाने में कामयाब रही तो उसे छ्त्तीसगढ़ अंडर 16 के टीम में चयनित किया जाएगा और प्रैक्टिस के लिए कैम्प भेजा जाएगा।

कलक्टर ने कहा खेल विभाग से दिलाएंगे मदद
कुछ दिन पहले प्रांजल के एकेडमी ज्वाइन करने के जिद पर पिता ने रायपुर में बात की परन्तु 70 से 80 हजार रुपये के खर्च की बात सुन के उन्होंने एकेडमी ज्वाइन करने से मना कर दिया। जिसके बाद प्रांजल ने पत्रिका के संवादाता से ये बात बताई थी। जिसके बाद संवाददाता ने प्रांजल और उनके पिता को सुकमा जिला कलेक्टर मौर्य से इनकी समस्या से अवगत कराया था।

इससे पूर्व भी सुकमा का नाम रोशन किया है
परन्तु कलेक्टर ने बताया की एकेडमी में प्रवेश करने के लिए हम प्रांजल की किस तरह से मदद कर पाएंगे। इसके लिये खेल विभाग को इसकी जानकारी भेज रहा हूं कुछ होगा तो बताया जाएगा। प्रांजल वही बेटी है जिसने इससे पूर्व भी सुकमा का नाम रोशन किया है। प्रांजल शालेय टेनिस बाल क्रिकेट में नीमच में राष्ट्रीय स्तर का टूर्नामेंट खेल चुकी है। और अपने साथ साथ पूरे सुकमा का नाम रोशन किया था। जिसके लिए प्रांजल को 25 हजार रुपये की राशि भी मिली थी।

पिता की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने से
प्रांजल को क्रिकेट के प्रति लगाव देख के लगता है कि इस बेटी को भी अगर सही ट्रैक मिल जाये तो ये भी सुकमा का जरूर नाम रोशन करेगी। परन्तु पिता की आर्थिक स्थिति सही न हो पाने के कारण इस बेटी को प्रेक्टिस करने के लिये जगह और सही कोच नही मिल पा रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned