Alert: रिवर्स मानसून का असर, अभी आने वाले कुछ और दिनों तक जारी रहेगा बारिश का कहर

Alert: रिवर्स मानसून का असर, अभी आने वाले कुछ और दिनों तक जारी रहेगा बारिश का कहर
Alert: रिवर्स मानसून का असर, अभी आने वाले कुछ दिन तक जारी रहेगा बारिश का कहर

Karunakant Chaubey | Updated: 09 Sep 2019, 09:23:27 PM (IST) Sukma, Sukma, Chhattisgarh, India

Chhattisgarh Weather Forecast: मौसम वैज्ञानिकों ने कहा- छत्तीसगढ़ में मानसून के पुनर्जीवित होने की वजह से हो रही बारिश। छत्तीसगढ़ के ऊपर तीन नए सिस्टम बने है। इसकी वजह से अगले 24 घंटों में राज्य के कई जिलों में भारी बारिश हो सकती है।

जगदलपुर. Chhattisgarh Weather Forecast: छत्तीसगढ़ पर इस वक्त रिवर्स मानसून का असर है। इस वजह से बारिश हो रही है। मौसम विज्ञान केंद्र रायपुर के अनुसार मानसून की टर्फ लाइन छत्तीसगढ़ के उपर सक्रिय थी लेकिन इसका असर कमजोर हो चुका था। अब एक बार फिर रिवर्स मानसून की स्थिति बनी है और बारिश हो रही है।

छत्तीसगढ़ के 12 जिलों में फिर होगी आफत वाली बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

छत्तीसगढ़ के ऊपर तीन नए सिस्टम बने है। इसकी वजह से अगले 24 घंटों में राज्य के कई जिलों में भारी बारिश (Heavy Rain) हो सकती है। बारिश की संभावना को देखते हुए मौसम विभाग (Weather Department) ने अलर्ट भी जारी कर दिया है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटों में जशपुर, मुंगेली, बिलासपुर, रायपुर (Raipur) और कांकेर जिले के कुछ जगहों पर भारी बारिश हो सकती है। वहीं बाकी के ज्यादातर जिलों में कई जगह हल्की से मध्यम बारिश की संभावना जताई गई है।

बस्तर में टूट चूका है रिकार्ड

बस्तर में इस साल बारिश का 5 साल पुराना रिकॉर्ड टूट चुका है। जगदलपुर शहर में एक दिन में ही 289 एमएम बारिश का रिकॉर्ड इस साल बन चुका है। लगातार हो रही बारिश की वजह से शहर की निचली बस्तियों और जिले के गांवों में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है। इंद्रावती नदी भी खतरे के निशान से उपर बह रही है।

मौसम विभाग ने जारी किया 15 जिलों के लिए रेड अलर्ट, अगले 24 घंटे में होगी भारी बारिश

जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार को जगदलपुर में महज 24 घंटे में 289 एमएम बारिश हुई, जो सीजन में किसी एक स्थान पर सर्वाधिक बारिश है । तो वहीं रायपुर में भी 65.8 मिमी बारिश हुई, माना में 102.6 मिमी । गुरुवार को सुबह ज्यादातर जगहों पर हवा में नमी 90 फीसदी या उससे अधिक ही रही । रायपुर में भी सुबह नमी 90 फीसदी थी. शाम तक यह 81 फीसदी के आसपास बनी हुई थी ।

ओडिशा में भारी बारिश इसलिए इंद्रावती उफान पर

शुक्रवार को ओडिशा के तटीय इलाके पर एक कम दबाव का क्षेत्र बना । वहीं समुद्र तल से मानसून द्रोणिका तटीय ओडिशा के आसपास कम दबाव के क्षेत्र के साथ स्थित है । ये कम दबाव वाला क्षेत्र दक्षिण-पूर्व से पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी तक समुद्र तल से 2.1 किमी तक फैली है और दक्षिण की तरफ झुकी है । इन सिस्टम के कारण छत्तीसगढ़ में जमकर बारिश करवाई ।

Weather Forecast Updates: सभी जिलों में हो सकती है भारी बारिश, Yellow Alert जारी

ओडिशा में पिछले हफ्तेभर से हो रही बारिश की वजह इंद्रावती नदी उफान पर है। खातीगुड़ा डैम के चार गेट में दो दिन पहले खोले गए थे। इस वजह से इंद्रावती का जल स्तर लगातार बढ़ रहा है। बस्तर जिले के अलावा दंतेवाड़ा और बीजापुर जिले में इंद्रावती उफान पर है। कई गांवों का संपर्क मुख्यालय से टूटने की खबर सामने आ रही है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned