प्रसव पीड़ा से तड़प रही महिला को इलाज नहीं मिलने से गई एक नवजात मासूम की जान, फिर......

102 महतारी एक्सप्रेस की नही मिली सहायता,आपात कालीन वार्ड सिर्फ नाम के लिए, नहीं है कोई व्यवस्था।

By: Badal Dewangan

Updated: 07 Jun 2020, 07:03 PM IST

दोरनापाल. प्रसव पीड़ा से तड़प रही महिला को वक्त रहते इलाज नहीं मिलने से एक मासूम नवजात शिशु की जान चली गई। शुक्रवार रात तकरिबन 3 बजे गर्भवती महिला के 102 महतारी एक्सप्रेस को फोन किया। परन्तु किसी ने फोन नहीं उठाया। महिला की दर्द ज्यादा होने से वाड़ क्रमांक 8 कि मितानिन को उसके पति द्वारा बुलाया गया। जिसकी सहायता से महिला अपने घर के जमीन में ही अपने बच्चे को जन्म दे दी।

सही समय पर होता इलाज बच जाती मासूम की जान
बच्चे के जन्म होने के बाद भी दोबारा पति द्वारा 102 को फोन के माध्यम से संपर्क करने की कोशिश किया गया परंतु दुबारा भी फोन नही उटाया गया। फिर स्थानिय लोगों की मदद से आटो से जच्चा-बच्चा दोनों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। लेकिन समय रहते इलाज नहीं होने से बच्चे ने दम तोड़ दिया। वहीं महिला के पति ने बताया की स्टाफ नर्स द्वारा उनसे कहा गया की अभी डॉक्टर के आने का समय नहीं हुआ है समय से ही डॉक्टर आएंगे। अगर वक्त रहते बच्चे का इलाज हो जाता तो शायद बच्चा आज इस दुनिया में रहता।

Show More
Badal Dewangan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned