कांग्रेस नेता की अचानक मौत, 48 घंटे पहले भरा था पार्षद चुनाव का नामांकन

निधन की खबर पर हेलिकॉप्टर से दोरनापाल रवाना हुए मंत्री लखमा, नक्सली क्षेत्र से लड़ने वाले थे पार्षद चुनाव

By: Bhupesh Tripathi

Published: 08 Dec 2019, 06:50 PM IST

सुकमा. छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा में एक कांग्रेस नेता की मौत रविवार को हो गई। दोरनापाल के वार्ड क्रमांक 14 से प्रत्याशी बनाए गए मीडियम गंगाराम की मौत की खबर से कांग्रेस नेताओं में शोक की लहर है। बताया जा रहा शुगर लेवल बढ़ने की वजह से उनकी तबीयत कुछ ज्यादा ही खराब हो गई थी। दोरनापाल अस्पताल में इलाज के दौरान उनके निधन की खबर आई। बीते 6 नवंबर को उन्होंने पार्षद पर के चुनाव के लिए नामांकन भी दाखिल किया था।

बताया जा रहा है जब शुगर लेवल बढ़ा तो फौरन उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया। मौत की खबर के बाद दोरनापाल में बड़े कांग्रेसी नेताओं का आना शुरू हो चुका है। इलाके के विधायक, आबकारी व उद्योग मंत्री कवासी लखमा भी रायपुर से मीडियम गंगाराम के गृहग्राम हेलीकॉप्टर से पहुंचे हैं ।

नामांकन के वक्त गंगूराम के साथ थे हरीश लखमा
मंत्री लखमा के पुत्र एवं जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश कवासी लखमा ने नगरीय निकाय चुनाव (urban body election) में कांग्रेस प्रत्याशी मीडियम गंगाराम की मौत पर दु:ख व्यक्त करते हुए कहा कि उनकी (मीडियम गंगाराम) की असमय मृत्यु की खबर मुझे रविवार सुबह दोरनापाल के मित्रों के माध्यम से मिली। हरीश ने आगे कहा, ’48 घंटे पहले नामांकन के वक्त वे उनके साथ थे । उनके साथ बिताए स्नेहमय समय को स्मृति में बदल जाने को स्वीकार नहीं कर पा रहा हूं।’

ऐसे पड़ा था मीडियम गंगाराम नाम
हरीश ने बताया कि 90 के दशक से उन्हें प्रिंट मीडिया एमजीआर (मीडियम गंगाराम) के नाम से जाना जाने लगा। यह नाम उन्हें उस दशक के प्रसिद्ध पत्रकार डॉक्टर सतीश द्वारा दिया गया था। हरीश ने आगे कहा कि कोंटा के जनपद अध्यक्ष रहते वे जनसेवा के प्रतीक थे। हरीश ने श्रधांजलि अर्पित करते हुए कहा कि दादा का व्यवहार हम कार्यकर्ताओं द्वारा हमेशा याद किया जाएगा।

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned