दिवाली पर सांसद वरुण गांधी ने गरीबों को दिया तोहफा, खिलखिला उठे चेहरे

दिवाली पर सांसद वरुण गांधी ने गरीबों को दिया तोहफा, खिलखिला उठे चेहरे
BJP MP Varun Gandhi

Shatrudhan Gupta | Publish: Oct, 16 2017 07:51:34 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

वरुण ने कहा की वे चाहते हैं कि केवल उन गरीबों के घरों में दीपावली के ही दिन उजाला न हो, बल्कि उनका घर रोज उजाले से जगमगाता रहे।

सुल्तानपुर. भाजपा के फायरब्रांड नेता और सुल्तानपुर से भाजपा सांसद वरुण गांधी ने सोमवार को शहर के तिकोनिया पार्क मैदान में गरीबों को दिवाली से पहले ही कई तोहफे दिए। इस दौरान वरुण ने अपने पैसों से मैला ढोने वाले और सेप्टिक टैंक साफ करने वाले गरीब तबके के लोगों को रिक्शा ट्रॉली, महिलाओं को साड़ी, सिलाई मशीन और करीब एक हजार से अधिक लोगों को मिठाइयां वितरित कीं।

वरुण गांधी ने कहा कि समाज से उपेक्षित उस वर्ग जो हाथ से मैला साफ करते हैं, दूसरों की गंदगी साफ करते हैं, इन सब को मुख्यधारा से जोड़कर इनका विकास जरूरी है। अपने एक दिवसीय दौरे पर सुल्तानपुर पहुंचे सांसद वरुण गांधी दीपावली मिलन समारोह में शामिल हुए। इस दौरान वरुण ने कहा की वे चाहते हैं, लोगो के घरों में मात्र दीपावली के ही दिन उजाला न हो, बल्कि उनकी मुहीम है कि उनके इस प्रयास से उनके घरों में रोज उजाला हो। उन्होंने कहा कि सुलतानपुर को वह ऐसा जिला बनाएंगे, जहां का कोई व्यक्ति अपने हाथ से मैला नहीं उठाएगा।

उपेक्षित समाज को दिया दीवाली का तोहफा

बताते चलें की नगर के तिकोनिया पार्क में आयोजित दीपावली मिलन समारोह में पहुंचे सांसद वरुण गांधी ने लोगों दीपावली की बधाई दी। उसके बाद उन्होंने संसदीय क्षेत्र के 70 गरीब जो कि मैला ढोने और सेप्टिक टैंक साफ करने का काम करते हैं, उन्हें अपने हाथों से रिक्शा ट्रॉली भेंट की। इसके अलाव गरीब व निर्धन 30 महिलाओं को साडिय़ां और सिलाई मशीन वितरित की। इतना ही नहीं, कार्यक्रम में पहुंचे लोगों और कार्यकर्ताओं को सांसद वरुण गांधी ने दीपावली के मौके पर मिठाइयां भी वितरित कंी। वरुण ने कहा की वे चाहते हैं कि केवल उन गरीबों के घरों में दीपावली के ही दिन उजाला न हो, बल्कि उनकी मुहीम है कि उनका घर रोज उजाले से जगमगाता रहे। इसके लिए वे हर संभव प्रयास कर रहे हैं।

भाजपा सांसद ने कहा कि वे सुल्तानपुर को देश का ऐसा पहला जिला बनाएंगे, जिसमें जो भी मैला ढोने वाले या सेप्टिक टैंक साफ करने वाले हों वो ये काम बंद करें और उन्हें वे आत्मनिर्भर बनाएं और इन्हें कोई दूसरा रोजगार सुलभ करा सकें। ये कार्य मशीनों के द्वारा कराया जाए। उन्होंने इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है और अगली बार सुल्तानपुर आने पर वे ऐसे संगठनों से मुलाकात कर ऐसी रुपरेखा तैयार करेंगे, जो इन्हें रोजगार प्रशिक्षण दे सके। प्रशिक्षण के दौरान होने वाला खर्च भी वरुण ने अपने ऊपर लेने की बात कही।

वरुण पहले भी अपने वेतन से निराश्रितों को दे चुके हैं मकान

वरुण गांधी ऐसे पहले नेता हैं, जिन्होंने संसद में सांसदों के वेतन वृद्धि को गलत करार दिया था। सांसद वरुण गांधी पिछले साल दर्जनों निराश्रितों को मकान अपने वेतन से बनवाकर दे चुके हैं। आज यहां गरीबों को दीपावली के उपहार देते हुए उन्होंने कहा कि गरीबों के लिए हर वर्ष वह पांच हजार घर बनवाएंगे। गरीबों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए स्वरोजगार का प्रशिक्षण दिलाएंगे।

बोले राजनीति का मकसद सत्ता नहीं, सेवा है

भाजपा सांसद ने कहा कि उनकी राजनीति का मकसद सत्ता नहीं, बल्कि समाज की सेवा करना है। दीपावली की शुभकामनाएं देते हुए उन्होंने महिलाओं को साड़ी और मिठाई बांटीं। इस मौके पर भाजपा के जिला अध्यक्ष जगजीत सिंह छग्गू और पूर्व जिलाध्यक्ष कृपा शंकर द्विवेदी समेत अन्य दर्जनों नेताओं ने उनका स्वागत किया।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned