बाल श्रमिकों के भी जागेंगे भाग्य, उनके चेहरों पर भी आएगी मुस्कान

बाल श्रमिकों को चिन्हित कर बाल श्रमिक विद्या योजना के तहत श्रम विभाग ऐसे बाल श्रमिकों के पढ़ाई का जिम्मा उठाएगा, जो कम उम्र में श्रमिक बनकर काम के बोझ तले घुट रहे हैं।

By: Neeraj Patel

Published: 08 Jul 2020, 01:17 PM IST

सुलतानपुर. प्रदेश में बाल श्रमिकों के अच्छे दिन आने वाले हैं, क्योंकि बाल श्रमिकों को चिन्हित कर बाल श्रमिक विद्या योजना के तहत श्रम विभाग ऐसे बाल श्रमिकों के पढ़ाई का जिम्मा उठाएगा, जो कम उम्र में श्रमिक बनकर काम के बोझ तले घुट रहे हैं और उनका बचपन यूं ही काम के बोझ तले बिता जा रहा है। श्रम विभाग अब बाल श्रमिकों के पढ़ाई की व्यवस्था करने के साथ ही छात्रवृत्ति भी देगा।

प्रदेश सरकार की योजना अनुसार श्रम विभाग को बाल मजदूरों को चिन्हित करने का काम अगस्त तक निपटा लेना है। इसके पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा घोषित इस योजना का प्रचार-प्रसार जून माह में न हो पाने के कारण विभाग अब तक एक भी बाल श्रमिक को ढूंढ पाने अथवा चिन्हित कर पाने में सफलता नहीं पाई है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा चालू की गई बाल श्रमिक विद्या योजना के अंतर्गत उन सभी बाल मजदूरों को योजना का लाभ मिलेगा जो चाहे संगठित क्षेत्र के हों या असंगठित क्षेत्र के बाल श्रमिकों को वरीयता मिलेगी जिनके माता- पिता की मृत्यु हो चुकी हो या माता- पिता में से किसी एक कि मृत्यु हो चुकी हो। इतना ही नहीं है, उन बाल श्रमिकों को भी योजना का लाभ मिलेगा जिनके मां-बाप दिव्यांग हैं।

बालक को एक हजार तो बालिका को मिलेगा 12 सौ

बाल श्रमिक बालकों को शिक्षा ग्रहण करने पर एक हजार रुपए प्रत्येक महीने और बाल श्रमिक लड़कियों को 12 सौ रुपए प्रति माह मिलेंगे। जो बाल श्रमिक कक्षा 8, 9 और 10 पास करेंगे, उन्हें 6 हजार रुपए अतिरिक्त दिए जाएंगे। इस योजना का सबसे महत्वपूर्ण पहलू यह है कि इस योजना के पात्र बाल श्रमिकों के माता-पिता को भी सरकार द्वारा संचालित सभी जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिलेगा। जिसमें अंत्योदय, पेंशन और आयुष्मान जैसी योजनाएं शामिल हैं।

उपश्रमायुक्त नासिर खान ने बताया कि बाल श्रमिकों को चिन्हित किया जा रहा है। इन बाल श्रमिकों को वर्ष 2021 में शुरू होने वाले अटल आवासीय विद्यालय में प्रवेश दिया जाएगा। उन्होंने समाजसेवियों से भी बाल श्रमिकों को योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए आगे आने की अपील की है।

Show More
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned