राहुल गांधी के करीबी इस नेता की जेल से रिहाई पर जश्न, आतंकियों को पनाह देने के आरोप में पुलिस ने किया था अरेस्ट


इन्हें राहुल गांधी के सबसे ज्यादा नजदीकी माने जाते हैं, इतना ही नहीं वे प्रियंका गांधी वाड्रा परिवार के भी खास लोगों में हैं...

By: Hariom Dwivedi

Published: 16 May 2018, 03:25 PM IST

सुलतानपुर. जिले में कांग्रेस के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ चुके आतंकी संगठन बब्बर खालसा के साथ सम्बन्धों के आरोप में गिरफ्तार किए 10 जनपथ के करीबी कांग्रेसी नेता संदीप तिवारी उर्फ पिन्टू के जेल से छूटने के बाद जिले में पहुंचने पर कार्यकर्ताओं एवं उनके शुभचिन्तकों ने गर्मजोशी से स्वागत किया। सन्दीप उर्फ पिंटू तिवारी के बारे यह बताना समीचीन होगा कि पिंटू तिवारी गांधी-नेहरू परिवार के खास विश्वसनीय लोगों में से है। यहां तक कि पिंटू तिवारी कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के सबसे ज्यादा नजदीकी और खास लोगों में शुमार है। इतना ही नहीं वे प्रियंका गांधी वाड्रा परिवार के भी खास लोगों में हैं।

इसलिये पंजाब पुलिस ने किया था गिरफ्तार
कांग्रेस हाईकमान तक मजबूत पकड़ रखने वाले संदीप तिवारी को करीब 5 माह पहले लखनऊ पुलिस, एसटीएफ के सहयोग से पंजाब पुलिस ने लखनऊ से गिरफ्तार किया था और उन्हें पंजाब ले जाकर उनके खिलाफ उपलब्ध साक्ष्य के आधार पर उन्हें जेल भेज दिया था। उन ऊपर आरोप यह लगा था कि उनका सम्बन्ध और संरक्षण पंजाब के बब्बर खालसा के आतंकियों से था। उस समय उनकी लखनऊ में गिरफ्तारी को लेकर कांग्रेस पार्टी में काफी हाय तौबा मची थी। जिले के कांग्रेसी नेताओं ने पिन्टू तिवारी की गिरफ्तारी को विपक्षी दलों की साजिश करार दिया था। कांग्रेसी नेताओं ने तब यह कहा था कि सच कभी हारता नहीं, बल्कि परेशान होता है।

गिरफ्तारी पर लखनऊ से दिल्ली तक मचा था हंगामा
पिंटी की गिरफ्तारी से सुलतानपुर से लखनऊ और लखनऊ से लेकर दिल्ली तक कांग्रेस पार्टी में हलचल मच गयी थी। बसपा नेता और पूर्व मंत्री विनोद सिंह ने इनकी गिरफ्तारी पर सवाल खड़े किये थे, जबकि जिले के अन्य नेताओं ने चुप्पी साध लिया था। कई न्यूज़ चैनलों ने तो बाकायदा डिबेट कराया था।

जगह-जगह हुआ जोरदार स्वागत
कई महीनों बाद जब पिन्टू तिवारी जेल से रिहा होने के बाद जिले में पहुंचे तो जगह-जगह उनके चाहने वालों ने उनका स्वागत किया गया। कांग्रेस नेता पिंटू तिवारी का जिले के धम्मौर, अकारीपुर, अमहट आदि इलाको में गर्मजोशी से स्वागत किया गया। स्वागत के बाद उनका काफिला विजेथुआ महावीरन दर्शन के लिए गया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं का कहना है कि पिन्टू तिवारी को बेवजह जेल भेजा गया था।

sultanpur
Congress
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned