कृषि कानून के विरोध में किसानों ने किया प्रदर्शन, प्रतीकात्मक शवयात्रा निकालने पर पुलिस की नोंकझोंक

जिले के कोने-कोने से आए हुए सैकड़ों की संख्या में किसानों का तिकोनिया पार्क में जमावड़ा लग गया।

By: Abhishek Gupta

Published: 22 Jan 2021, 08:59 PM IST

सुलतानपुर. जिले के कोने-कोने से आए हुए सैकड़ों की संख्या में किसानों का तिकोनिया पार्क में जमावड़ा लग गया। किसान बिल के विरोध में किसानों ने एकजुटता दिखाते हुए गोष्ठी की। आंदोलन में दिल्ली में धरना दे रहे किसानों की मौत पर शोक जताते हुए प्रतीकात्मक अर्थी निकाली गई। अर्थी निकालते समय पुलिसकर्मियों से उनकी झड़प हो गई, इस पर पुलिस कर्मियों ने उनसे पुतला छीन लिया। ऐसे में नाराज किसानों ने शहर की सड़कों पर प्रदर्शन कर इसका विरोध जताया।

भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष योगेश श्रीवास्तव के संयोजन में सुबह से ही किसान तिकोनिया पार्क में पहुंचकर धरना देने लगे । किसान बिल को किसानों का विरोधी बताते हुए किसानों ने जमकर नारेबाजी की। धरने को संबोधित करते हुए संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी हृदयराम वर्मा ने कहा कि सरकार किसानों की फसलों को सस्ते में बेचने के लिए पूंजीपतियों के साथ मसौदा तैयार कर रही है। तिकोनिया पार्क से निकल कर किसानों को श्रद्धांजलि देने के लिए अर्थी यात्रा निकालने की तैयारी में थे। तभी पुलिस को इसकी भनक लग गई और भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंच गया।

पुलिस और किसानों दोनों के बीच काफी नोकझोंक हुई। इसके बाद नाराज किसानों ने नारेबाजी करते हुए जिला अस्पताल , शाहगंज ,डाकखाना होते हुए जिला अधिकारी कार्यालय पहुंचे । डीएम कार्यालय में हंगामा न हो ,इसके लिए जिलाधिकारी कार्यालय का मुख्य गेट बंद करा दिया गया था । काफी मानमनौव्वल के बाद किसानों ने अपना धरना समाप्त किया ।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned