पेट्रोल-डीजल के बाद अब प्याज के बढ़े दामों ने रुलाया, यहां 60 रुपए प्रति किलो बिक रहा प्याज

सुलतानपुर की नवीन कृषि मंडी अमहट के थोक आढ़तिया बबलू राइन का कहना है कि लगातार बढ़ते डीजल-पेट्रोल के दामों की वजह से
गैर जनपदों व प्रांतों से आने वाले प्याज पर ढुलाई (भाड़ा) किराया मंहगा हो जाने के कारण प्याज के दामों में अप्रत्याशित वृद्धि हो गई
है

By: Hariom Dwivedi

Published: 24 Feb 2021, 03:24 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
सुलतानपुर. पेट्रोल और डीजल की शतक की ओर बढ़ती कीमतों से जनता पहले से ही काफी परेशान हैं, अब 50 पार जाती प्याज की कीमतें भी लोगों को रुला रही हैं। थोक प्याज विक्रेता अंसार अहमद बताते हैं कि जिले की अमहट मंडी में थोक बाजार में प्याज 45-50 रुपये में प्रति किलोग्राम पर बिक रहा है, जबकि बाजार में खुदरा विक्रेता लगभग 55 से 60 रुपए तक प्रति किलोग्राम तक प्याज बेच रहे हैं। पिछले डेढ़ महीने में प्याज की कीमत लगभग दोगुनी हो गई है।

सुलतानपुर की नवीन कृषि मंडी अमहट के थोक आढ़तिया बबलू राइन से मिली जानकारी के मुताबिक जिले की अमहट मंडी में प्याज का औसत थोक भाव पिछले दो दिनों में करीब 970 रुपये प्रति कुंतल से बढ़कर 4200 रुपये से 4500 रुपये प्रति कुंतल तक पहुंच गया है।

इसलिए महंगा हुआ प्याज
नवीन कृषि मंडी अमहट के थोक आढ़तिया बबलू राइन व बाजार पर नजर रखने वाले अन्य जानकारों का कहना है कि लगातार बढ़ते डीजल-पेट्रोल के दामों की वजह से गैर जनपदों व प्रांतों से आने वाले प्याज पर ढुलाई (भाड़ा) किराया मंहगा हो जाने के कारण प्याज के दामों में अप्रत्याशित वृद्धि हो गई है। कई लोगों का कहना है कि जमाखोरों के मनमानी ब्रिक्री रेट निर्धारित करने के कारण प्याज के दामों में लगातार वृद्धि हो रही है। प्याज कारोबारी राशिद राइनी, बबलू राइनी, पुनीत पाठक, इन्द्र सेन दूबे, राजेश सिंह, अनिल तिवारी, वेद पाण्डे़य, सुनील तिवारी आदि कई लोगों का कहना है कि एक तरफ डीजल-पेट्रोल शतक मारने को है वहीं, अब लगभग सभी सब्जियों में उपयोग किया जाने वाला प्याज भी अर्धशतक के पार जाने से अब मजदूर व मध्यम वर्गीय परिवारों को रुलाने लग गया है।

जरूरत का हर सामान महंगा
क्षेत्र के सब्जी विक्रेता सूरज चौहान, भुल्लुर यादव व जनरल स्टोर संचालक धर्मेंद्र जायसवाल व हार्डवेयर विक्रेता नयन बहादुर सिंह बताते हैं कि डीजल की कीमतें बढ़ने से माल भाड़े में बढ़ोतरी हो गई है। इसकी वजह से तकरीबन हर जरूरी वस्तु महंगी हो गई है। खाने-पीने की चीजों से लेकर घर बनाने की निर्माण सामग्रियों की कीमतों में 15-20 फीसदी तक इजाफा हुआ है। आलू और प्याज के दामों में इजाफा होने का एक कारण डीजल का बढ़ा हुआ दाम भी है। इसकी कीमत आम लोगों को चुकानी पड़ रही है।

यह भी पढ़ें : डीजल-पेट्रोल की कीमतों ने बढ़ाई महंगाई, विपक्ष ने घेरा, सरकार ने कहा- नहीं बढ़ी महंगाई दर

By- राम सुमिरन मिश्रा

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned