scriptPaddy wheat Farming left watermelon melon kheti farmers huge profits | धान-गेहूं की खेती से तौबा, तरबूज-खरबूज की खेती से जमकर मुनाफा कमा रहे किसान | Patrika News

धान-गेहूं की खेती से तौबा, तरबूज-खरबूज की खेती से जमकर मुनाफा कमा रहे किसान

धान-गेहूं जैसी पारम्परिक खेती को छोड़ तरबूज और खरबूज की खेती क्षेत्र के किसानों के लिए फायदेमंद साबित हो रही है। बड़ेे पैमाने पर खेती कर किसान इससे अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं। परंपरागत खेती की तुलना में लाभ अधिक होने से फल-सब्जियों की खेती करने वाले किसानों की संख्या बढ़ रही है।

सुल्तानपुर

Published: May 10, 2022 10:39:14 am

धान-गेहूं जैसी पारम्परिक खेती को छोड़ तरबूज और खरबूज की खेती क्षेत्र के किसानों के लिए फायदेमंद साबित हो रही है। बड़ेे पैमाने पर खेती कर किसान इससे अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं। परंपरागत खेती की तुलना में लाभ अधिक होने से फल-सब्जियों की खेती करने वाले किसानों की संख्या बढ़ रही है। जिले के धनपतगंज क्षेत्र सेवरा व देवरा गांव के किसान कुछ वर्षों के दौरान दर्जनों बीघा खेतों में तरबूज और खरबूज की खेती कर रहे हैं। इन खेती से किसानों की आर्थिक स्थिति में भारी सुधार हुआ। और वे सभी धनी हो रहे हैं।
धान-गेहूं की खेती से तौबा, तरबूज-खरबूज की खेती से जमकर मुनाफा कमा रहे किसान
धान-गेहूं की खेती से तौबा, तरबूज-खरबूज की खेती से जमकर मुनाफा कमा रहे किसान
लागत निकल गई अब तो सिर्फ मुनाफा हो रहा

ग्राम पूरे पंडित तलिया सेवरा ऐंजर निवासी चंद्रशेखर उपाध्याय 13 साल से बड़े पैमाने पर सब्जियों एवं फलों की खेती करते चले आ रहे हैं। इस खेती से उन्हें अच्छा फायदा हो रहा है। कभी-कभी मौसम के साथ नहीं देने से कुछ नुकसान भी उठाना पड़ता है। खेती से आमदनी बढ़ाने की कोशिश में लगे चंद्रशेखर ने इस बार आठ बीघा खेत में ताइवान तरबूज और खरबूज की फसल उगाई है। चंद्रशेखर बताते हैं कि आठ बीघा में तरबूज और खरबूज की लागत करीब दो लाख रुपए आई है। अप्रैल में तरबूज और खरबूज के पौधों में फल आने शुरू हो गए थे।
यह भी पढ़ें

Indian Railways: रात की यात्रा पर रेलवे ने जारी की नई गाइडलाइन, जान लीजिए वरना देना होगा जुर्माना

किसानों की बल्ले-बल्ले

किसान चन्द्रशेखर ने बताया कि, अप्रैल के अंतिम सप्ताह से खेत से ही फलों की बिक्री होने लगती है। चंद्रशेखर ने बताया कि, तरबूज व खरबूज की लागत निकल गई है। अब मुनाफा हो रहा है। सेवरा एंजर गांव के अवधेश पांडेय ने तीन बीघे में तरबूज व खरबूज की बोआई कराई थी। अवधेश बताते हैं कि, तीन बीघे में 60 हजार रुपए का खर्च आया था। अभी तक 85 हजार रुपए का तरबूज व खरबूज बिक चुका है। खेत से प्रतिदिन तरबूज व खरबूज की बिक्री हो रही है। इसी तरह देवरा गांव के किसान चंद्रनाथ पांडेय ने भी पांच बीघे में तरबूज व खरबूज लगाया था। उन्होंने भी तरबूज व खरबूज की खेती में खर्च की गई रकम को निकाल लिया है। अब तो सिर्फ उन्हें मुनाफा ही मिल रहा है।
यह भी पढ़ें

सीएम योगी का तोहफा, मुंबई में रह रहे यूपी वासियों को मिल रहा एक बड़ा मौका, जानें स्कीम

पारम्परिक खेती को छोड़ मुनाफे वाली खेती की

किसान चंद्रशेखर बताते हैं कि, सबसे पहले उन्होंने उद्यान विभाग से अनुदान पर मिलने वाले केले की खेती से शुरुआत की थी। उद्यान विभाग के विशेषज्ञ की समय-समय पर मिलने वाली सलाह से चंद्रशेखर ने केले की खेती में मुनाफा हासिल किया। इससे मिलने वाले लाभ ने उन्हें अपने खेतों में दूसरे फसलें उगाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने इस बार आठ बीघा खेत में तरबूज व खरबूज की खेती की है। पैदावार और बाजार भाव को देखते हुए चंद्रशेखर को इस खेती से अच्छा लाभ मिलने की उम्मीद है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: मुंबई पुलिस ने जारी किया हाई अलर्ट, अधिकारियों को फिल्ड पर जाने का दिया आदेश, पुणे पुलिस भी अलर्ट परMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.