एक दिन की कोतवाल के तेवर देख पुलिसकर्मियों के हुए होश फाख्ता

नगर कोतवाल शचि ने फरियादियों की प्रॉब्लम सुनी और निस्तारण के दिए निर्देश
कोतवाली में साफ-सफाई और रिकॉर्ड के रखरखाव के निर्देश दिए
अपराधी रजिस्टर को भी किया चेक
बेटियों को जागरूक और उनमें आत्मबल विकसित करने को शासन के निर्देश पर किया : एसपी

By: Mahendra Pratap

Updated: 21 Nov 2020, 05:06 PM IST

सुलतानपुर. जिले में एक दिन के लिए इंटरमीडिएट की छात्रा को कोतवाली का कोतवाल बनाया गया। कोतवाल की कुर्सी पर बैठते ही एक दिन की कोतवाल बनीं 12वीं में पढ़ने वाली बेटी का आत्मबल और सम्मान दमक उठा। उसने कोतवाली में फरियादियों की प्रॉब्लम जानी और वहां मौजूद दरोगाओं और पुलिस कर्मियों को फरियादियों की प्रॉब्लम सॉल्व करने का धड़ाधड़ निर्देश दिए। एक दिन की कोतवाल बनी बेटी के तेवर देख पुलिस कर्मियों के होश फाख्ता हो गए।

नारी सशक्तिकरण को मजबूती देने और अधिकार और कर्त्तव्य के प्रति जागरूक करने के लिए जिले के दो कोतवाली में छात्राओं को एक दिन का कोतवाल बनाकर कोतवाली का प्रभार सौंपा गया। कोतवाली नगर क्षेत्र के गोपाल पब्लिक स्कूल की शचि को नगर कोतवाल बनाया गया। कोतवाल बनते ही छात्रा ने महिला पुलिसकर्मियों के साथ पुलिसिंग की जानकारी ली और उसके बाद फरियादियों की समस्याओं को सुनकर उसके निस्तारण के लिए पुलिसकर्मियों को जरूर निर्देश दिए। उसने कोतवाली में साफ-सफाई और रिकॉर्ड के रखरखाव के निर्देश दिए। एक दिन की कोतवाल बनीं छात्रा ने अपराधी रजिस्टर को चेक किया।

कोतवाल शचि ने कोतवाली में एफआईआर दर्ज करने से लेकर क्राइम रजिस्टर, बीट रजिस्टर, शस्त्रागार, मालखाना और महिला हेल्प डेस्क का निरीक्षण किया। एक दिन की कोतवाल बनीं बेटी ने कोतवाली से निकल कर वाहन चेकिंग अभियान चलाया। इस संबंध में एसपी शिवहरी मीणा ने बताया कि ऐसा बेटियों को जागरूक करने और उनमें आत्मबल विकसित करने के लिए शासन के निर्देश पर किया जा रहा है।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned