यहां जमीन के अंदर है हनुमान जी का एक पैर, दर्शन मात्र से मिल जाती है सभी पापों से मुक्ति

Akanksha Singh

Publish: Feb, 15 2018 01:45:47 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
यहां जमीन के अंदर है हनुमान जी का एक पैर, दर्शन मात्र से मिल जाती है सभी पापों से मुक्ति

मंदिर विजेथुवा महावीरन धाम के नाम से जाना जाता है।

सुल्तानपुर. वैसे तो जिले कई ऐसे आस्था के केंद्र है लेकिन कादीपुर में एक ऐसा हनुमान मंदिर जिसके चर्चे हर तरफ हैं। यहाँ आने से मात्र से सिर्फ सभी मनोकामना पूरी होती है बल्कि सभी बिगड़े काम पूरे हो जाते हैं। मंदिर विजेथुवा महावीरन धाम के नाम से जाना जाता है। जिसके चर्चे दूर दूर तक हैं।

जमीन में धंसा है मूर्ती का एक पैर

इस मंदिर में हनुमान जी की एक मूर्ति विराजमान है। हनुमान जी की मूर्ति का एक पैर जमीन में धंसा है। जिसकी वजह से मूर्ति थोड़ी तिरछी है। यह माना जाता है कि मूर्ति को सीधा करने के लिए इसके आसपास 100 फ़ीट की खुदाई की गई थी लेकिन मूर्ति का दूसरा सिरा नहीं मिला।

तालाब में नहाने से दूर होते हैं पाप

मंदिर के निकट के तालाब स्थित है जहां हनुमान जी ने कालनेमि के वध से पहले स्नान किया था। बताया जाता है कि इस तालाब का नाम मकरी कुंड है, और लोग मंदिर में दर्शन करने के पूर्व इस कुंड में स्नान करते हैं। ये भी कहा जाता है कि इस कुंड में स्नान करने से लोगों के पाप कट जाते हैं।

ये है पूरा इतिहास

रामायण में इस स्थान का जिक्र है कि जब श्रीराम और रावण के बीच चल रहे युद्ध में लक्ष्मण जी को बाण लगा और वो मूर्छित हो गए तो वैद्यराज सुषेण के कहने पर हनुमान जी संजीवनी बूटी लाने के लिए हिमालय की तरफ चले। हनुमान जी संजीवनी बूटी लाने में असफल हो जाएं इसके लिए रावण ने अपने एक मायावी राक्षस कालनेमि को भेजा, ताकि वो रास्ते में ही हनुमान जी का वध कर दे। कालनेमि मायावी था और उसने एक साधु का वेश धारण कर रास्ते में राम-राम का जाप करना शुरू कर दिया। थके-हारे हनुमान जी राम-राम धुन सुन कर वहीं रुक गए। रामायण के अनुसार साधू के वेश में कालनेमि ने हनुमान जी से उनके आश्रम में रुक कर आराम करने का आग्रह किया। हनुमान जी उसकी बात में आ गए और उसके आश्रम में चले गए। उसने हनुमान जी से आग्रह किया कि वह पहले स्नान कर लें उसके बाद भोजन की व्यवस्था की जाए। हनुमान जी स्नान के लिए तालाब में गए जहां कालनेमि ने मगरमच्छ बनकर हनुमान जी पर हमला किया था।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned