Breaking News: 24 घंटे के भीतर कुमकी हाथियों के 2 शावकों की मौत से मचा हड़कंप, इस वायरस से मौत की संभावना

2 Elephants cubs died: अज्ञात वायरस (Unknown Virus) से शावक लक्ष्मण की मौत के 24 घंटे के भीतर शावक रेवा ने भी तोड़ा दम, बिगड़ैल हाथियों को सुधारने तमोर पिंगला अभयारण्य (Tamore Pingla Resque center) में रखे गए हैं 5 कुमकी हाथी

By: rampravesh vishwakarma

Published: 24 Sep 2021, 05:30 PM IST

प्रतापपुर. सरगुजा संभाग के बिगड़ैल हाथियों को सुधारने 5 कुमकी हाथियों को लाकर सूरजपुर जिले के रमकोला स्थित तमोर पिंगला अभयारण्य में रखा गया है। यहां कुमकी हाथियों ने 2 शावकों लक्ष्मण व रेवा को जन्म दिया था। इसी बीच अज्ञात वायरस की चपेट में आ जान से 23 सितंबर की शाम शावक लक्ष्मण की मौत हो गई।

वहीं इस घटना के 24 घंटे के भीतर शावक रेवा ने भी गुरुवार की दोपहर दम तोड़ दिया। एक साथ दोनों शावकों की मौत से वन अधिकारी-कर्मचारी जहां सकते में हैं वहीं अन्य हाथियों को लेकर भी उनकी चिंता बढ़ गई है। 3 डॉक्टरों की टीम ने दोनों शावकों के शवों का पीएम किया। दोनों के एचवी-1 वायरस की चपेट में आने की आशंका जताई जा रही है।


गौरतलब है कि सरगुजा संभाग में मानव व हाथियों के द्वंद्व को रोकने मैसूर के दुबारे एलिफैंट कैंप से 5 कुमकी हाथियों को 4 साल पूर्व लाकर तमोर पिंगला अभयारण्य में लाया गया था। 5 कुमकी हाथियों के साथ 2 अन्य हाथियों को रखा गया है। हथिनी युगलक्ष्मी और हाथी गंगा से रेवा और लक्ष्मण शावक ने जन्म लिया था।

Kumki
IMAGE CREDIT: Kumki elephants

22 सितंबर की दोपहर लक्ष्मण की तबियत खराब हुई तो उसके अज्ञात वायरस से संक्रमित होने की बात सामने आई थी। वायरस के एचवी-1 होने की सम्भावना जताई गई थी। डॉक्टरों द्वारा उसका इलाज किया जा रहा था। इसी बीच गुरुवार की शाम लक्ष्मण जिंदगी की जंग हार गया।


शावक रेवा ने भी तोड़ा दम
शावक लक्ष्मण के बाद शावक रेवा में भी संक्रमण की संभावना थी। इस कारण उसे अलग रख इलाज किया जा रहा था, बाकी हाथियों को भी दूर बांधकर रखा गया था। वायरल रोकने कई प्रकार के सेनेटाइजर का छिड़काव किया जा रहा था। रेवा के इलाज और संक्रमण की सम्भावना को देखते हुए और डॉक्टरों की टीम यहां पहुंच गई थी।

elephants death
IMAGE CREDIT: 2 elephants cub died

24 सितंबर की स्थिति में रेवा की स्थिति सामान्य लग रही थी, इसी बीच दोपहर करीब डेढ़ बजे उसने भी दम तोड़ दिया। 24 घंटे के भीतर दोनों शावकों की मौत से वन विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। इधर पीएम पश्चात दोनों शावकों का रेस्क्यू सेंटर में ही अंतिम संस्कार कर दिया गया।

Reva and Laxman death
IMAGE CREDIT: Elephants death case

जांच के लिए लिया गया सैंपल
शावक लक्ष्मण की मौत के बाद एचवी-1 के लिए लिए गए सैम्पल की रिपोर्ट तो नहीं आई है लेकिन माना जा रहा है कि इसी वायरस की चपेट में दोनों आए हैं। बताया जा रहा है कि एचवी-1 वायरस तेजी से असर डालता है और संभलने का मौका नहीं देता।


अन्य हाथियों की चिंता
24 घंटे में दोनों शावकों की मौत से वन विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। सीएफ के. मैथ्यू भी तमोर पिंगला अभयारण्य पहुंचे थे। वन विभाग के सामने अब सबसे बड़ी चिंता बाकी हाथियों को लेकर है कि कहीं वे भी संक्रमित न हो गए हों।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned