फिर एक मासूम ने तोड़ा दम, 19 पहुंचा मौत का आंकड़ा

सोमवार को मासूम सुमन की हालत ज्यादा खराब हो गई तो उसे उच्च चिकित्सा हेतू सूरजपुर जिला चिकित्सालय रेफर किया गया। लेकिन सूरजपुर लाते वक्त भैयाथान के समी

By: Amil Shrivas

Published: 22 Aug 2017, 12:46 PM IST

सूरजपुर. शासन स्तर पर चांदनी-बिहारपुर क्षेत्र में मलेरिया पर नियंत्रण पाने हेतु किए गए प्रयासों के मध्य सोमवार को फिर एक मासूम की मौत हो गई। मासूम सुमन को उपचार के लिए सूरजपुर जिला चिकित्सालय रेफर किया गया था और उसने रास्ते में दम तोड़ दिया।ग्रामीणों के अनुसार ग्राम मोहरसोप निराली रमेश साहू की एक वर्षीय पुत्री सुमन साहू विगत दो दिन से अस्वस्थ थी। परिजनों ने उसका बिहारपुर अस्पताल में चिकित्सकों से उपचार कराया था। लेकिन सोमवार को मासूम सुमन की हालत ज्यादा खराब हो गई तो उसे उच्च चिकित्सा हेतू सूरजपुर जिला चिकित्सालय रेफर किया गया। लेकिन सूरजपुर लाते वक्त भैयाथान के समीप ही मासूम की मौत हो गई।
READ MORE : मलेरिया पीडि़तों का 15 दिनों से इलाज कराते-कराते डीपीएम ही हो गए टायफाइड के शिकार

खून की कमी और बुखार से पीडि़त थी मासूम : इस संबंध में सूरजपुर बीएमओ डॉ. आरएस सिंह ने बताया कि मृतिका सुमन साहू को मोहरसोप स्वास्थ्य केन्द से सूरजपुर रेफर किया गया था। वह मलेरिया से पीडि़त नहीं थी लेकिन बुखार होने और शरीर में खून की मात्रा कम होने के कारण उसे सूरजपुर भेजा गया था लेकिन रास्ते में ही मौत हो गई।

READ MORE : रायपुर की टीम लौटी, अब दिल्ली की टीम कल से करेगी जानलेवा मच्छरों पर करेगी रिसर्च

मोहरसोप में बढ़ाई गई सुविधाएं : मौसम परिवर्तन को देखते हुए एक दिन पूर्व ही जिले के सीएमएचओ डॉ. एसपी वैश्य ने मोहरसोप स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में एमबीबीएस चिकित्सक मेडिकल तकनीशियन व अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की स्थायी तैनाती की थी। यहां वायरल इन्फेक्शन की बढ़ती शिकायत के मद्देनजर उपचार व रक्त, पेशाब जांच की व्यवस्था शुरू कर दी गई है। ओपीडी में मरीजों की बढ़ती संख्या तथा मौसमी बीमारी के रोकथाम हेतु मोहरसोप कारगर साबित होगा।

READ MORE : यहां मलेरिया पर होने लगी सियासत, पहले गृहमंत्री पहुंचे फिर नेता प्रतिपक्ष व विधायक

Amil Shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned