रायपुर से बुकिंग पर आए स्कॉर्पियो मालिक की हत्या कर सडक़ पर फेंकी लाश, झारखंड के 3 शातिर अपराधी गिरफ्तार

Murder and Loot: स्कॉपियो ड्राइवर के अंधे कत्ल (Blind murder) की गुत्थी सुलझी, हत्या करने के बाद वाहन लूट कर फरार हो गए थे आरोपी, आईजी (Surguja IG) ने पुलिस टीम को दी बधाई, नगद इनाम की घोषणा

By: rampravesh vishwakarma

Published: 27 Sep 2020, 10:09 PM IST

सूरजपुर. प्रतापपुर थाना क्षेत्र के ग्राम खोरमा में मुख्य मार्ग पर 28 दिन पूर्व एक अज्ञात व्यक्ति की लाश मिली थी। हत्या के इस मामले में काफी मशक्कत के बाद मृतक की शिनाख्त बेमेतरा जिले के ग्राम मनियारी निवासी 40 वर्षीय चितरेन साहू के रूप में हुई।

जब पुलिस ने इस अंधे कत्ल (Blind murder) की विवेचना शुरू की तो मृतक स्कॉर्पियो का ड्राइवर निकला तथा वह रायपुर से गढ़वा जिले के 3 लोगों को बुकिंग में लेकर निकला था, उन्हीं तीनों ने योजनाबद्ध तरीके से खोरमा में ड्राइवर की हत्या कर लाश सडक़ पर फेंक दी और स्कॉर्पियो लेकर फरार हो गए थे। (Murder and loot)

मामले में पुलिस ने तीनों आरोपियों को रामानुजगंज के एक किराए के मकान में छापा मारकर गिरफ्तार किया है। आरोपी आदतन अपराधी हैं तथा बाइक चोरी के कई मामलों में शामिल रहे हैं। आरोपियों के पास से लूट की स्कॉर्पियो, एक कट्टा, चोरी की दो बाइक सहित अन्य सामान बरामद किया गया है। आईजी ने पुलिस टीम को नगद इनाम देने की घोषणा की है।

ये भी पढ़े: ग्राहक बनकर पुलिस ने शातिर बाइक चोर गिरोह का किया पर्दाफाश, 9 आरोपियों में 6 खरीददार भी शामिल


रविवार को आईजी रतनलाल डांगी व एसपी राजेश कुकरेजा (Surajpur SP) ने प्रतापपुर थाने में मामले का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि मृतक की शिनाख्त बेमेतरा जिला के ग्राम मनियारी निवासी 40 वर्षीय चितरेन साहू के रूप में होने के पश्चात उसके परिजन रायपुर निवासी दुष्यंत साहू से पूछताछ की तो पता चला कि मृतक 30 अगस्त को पंडरी बस स्टैंड से अपने स्कॉर्पियो वाहन क्रमांक सीजी 04 एचए-0216 को बुकिंग में लेकर 2 अज्ञात व्यक्तियों को लेकर प्रतापपुर आया था।

रायपुर से बुकिंग पर आए स्कॉर्पियो मालिक की हत्या कर सडक़ पर फेंकी लाश, झारखंड के 3 शातिर अपराधी गिरफ्तार

इसके बाद आरोपियों की पतासाजी हेतु प्रतापपुर थाना प्रभारी विकेश तिवारी टीम के साथ रायपुर गए। यहां होटलों व सीसीटीवी फुटेज की जांच भी की गई। इसी दौरान 11 सितंबर को आजाद चौक के पास सिटी प्लस होटल का रजिस्ट्रर चेक करने पर तीन व्यक्ति फैजान, अलीशान एवं फुरखान के नाम से रुके थे, होटल के मैनेजर ने बताया कि उन लोगों के पास लगेज नहीं था।

मैनेजर से पूछताछ में पुलिस को आरोपियों के संबंध में काफी सुराग मिले। फिर 26 सितंबर को पुलिस टीम को मुखबिर से सूचना मिली कि रामानुजगंज में 3 व्यक्ति एक रूम में रुके हैं। इसके बाद एसपी राजेश कुकरेजा के निर्देश पर पुलिस टीम ने रामानुजगंज में उक्त रूम में दबिश दी तो कमरे से लूटी गई स्कॉर्पियो का नंबर प्लेट मिला।

ये भी पढ़े: महिला को मिली बच्चोंं की हत्या की धमकी, पुलिस आरोपी को पकडऩे पहुंची तो घर से मिला कट्टा, हिरण की खाल व गांजा

इसके बाद पुलिस ने कमरे में ठहरे 3 लोगों को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो उन्होंने स्कॉर्पियो मालिक की हत्या कर स्कॉर्पियो लूटने (Murder and loot) का जुर्म कबूल लिया। इसके बाद पुलिस ने तीनों आरोपी गढ़वा जिला के मझियांव थाना अंतर्गत ग्राम सरकोनी निवासी शाहिद खान पिता मोहम्मद असलम, ग्राम शक्करकोनी निवासी फैजान पिता अफसार खान व सुकबाना निवासी सरवर पिता अनवर को गिरफ्तार कर लिया।

इस कार्यवाही में एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार, एसडीओपी ओडगी मंजूलता बाज, थाना प्रभारी प्रतापपुर विकेश तिवारी, एसआई नवल किशोर दुबे, चौकी प्रभारी खडग़वां विमलेश सिंह, प्रधान आरक्षक संतोष सिंह, विशाल मिश्रा, विवेकानन्द सिंह, आरक्षक अविनाश कुजूर, विकास सोनी, शेखर मानिकपुरी, मिथलेश गुप्ता, इन्द्रजीत सिंह, युवराज यादव, रौशन सिंह, श्याम सिंह, विकास सिंह, प्रवीण सिंह, कृष्ण कांत पाण्डेय, रायपुर जिला से आरक्षक प्रमोद बट्टी व विनय पाण्डेय सक्रिय रहे।

रायपुर से बुकिंग पर आए स्कॉर्पियो मालिक की हत्या कर सडक़ पर फेंकी लाश, झारखंड के 3 शातिर अपराधी गिरफ्तार

लूट-हत्या की ऐसे बनाई योजना
तीनों आरोपी 27 अगस्त को झारखंण्ड से चोरी की बाइक में रामानुजगंज किराये के मकान में आये थे। रामानुजगंज में तीनों ने योजना बनाई कि रायपुर जाकर स्कार्पियों वाहन को बुकिंग करके लायेंगे और उसे लूट कर फरार हो जाएंगे। इसके बाद 28 अगस्त को तीनों बाइक से रायपुर के लिए निकले।

रायपुर पहुंचने के बाद 30 अगस्त को बस स्टैण्ड जाकर स्कार्पियों वाहन बुक किए। बस स्टैण्ड से स्कार्पियों में फैजान एवं सरवर बैठकर आये और बाइक से शाहिद पीछे-पीछे आया। फिर रायपुर के भनपुरी चौक के आगे रोड किनारे बाइक छोड़ कर शाहिद भी स्कॉर्पियो में बैठ गया।

अम्बिकापुर पहुंचने के बाद खडग़वां सोनगरा होते हुए पोड़ी मोड़ से प्रतापपुर के लिये मुड़े। सरहरी जंगल के पास स्कार्पियों रोक कर पुन: तीनों ने हत्या-लूट की योजना बनाई। सरवर ने फैजान को गाड़ी चलाने तथा शाहिद को देशी कट्टा से ड्राइवर को मारने के लिये कहा, सरवर खुद अपने हाथ में हथौड़ी रख कर गाड़ी में बैठा।

गाड़ी जैसे ही खोरमा के पास पहुंची तो आरोपियों ने वाहन रोकने को बोला। डाइवर वाहन से नीचे उतरा लेकिन शाहिद ने कट्टे से फायर नहीं किया तो सरवन ने हथौड़ी से चितरेन के सिर पर प्राणघातक हमला कर दिया, इससे उसकी मौत (Murder) हो गई।

फिर वे शव को सडक़ पर फेंक कर वाहन लेकर रामानुजगंज आ गए, यहां बिहार का नंबर प्लेट स्कॉर्पियो में लगा दिया। रामानुजगंज में ही एक दिन रुके और दूसरे दिन गढ़वा में सरवर खान के घर के पास गाड़ी खड़ी कर अपने-अपने घर चले गए।


एक और लूट की वारदात करने की थी तैयारी
आईजी ने बताया कि आरोपियों ने झारखण्ड में 15-20 बाइक चोरी कर उपयोग करने पश्चात छोड़ दिया है एवं पुन: रामानुजगंज में किराए के कमरे में इक_ा होकर लूट करने की योजना बना रहे थे।

आरोपियों के पास से लूट की स्कॉर्पियो, 1 नग देशी कट्टा, 8 नग का कारतूस, 2 नग बाइक जब्त कर मामले में 32 के अलावा धारा 394, 34 व 25-27 के तहत कार्रवाई की गई। वहीं आईजी ने कड़ी मेहनत से मामले का खुलासा करने पर पूरी पुलिस टीम को इनाम देने की घोषणा की है।

उन्होंने लोगों से अपील की है कि वाहन को बुकिंग में देने से पहले वाहन बुकिंग पर ले जाने वाले व्यक्ति का नाम, पता, मोबाइल नंबर और उनका आईडी की जानकारी लें। उन्होंने बताया कि आरोपी इतने शातिर थे कि कहीं भी अपने आईडी का इस्तेमाल नहीं किया।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned