पढऩा-लिखना अभियान के तहत असाक्षर महिलाओं का प्राथमिकता के साथ होगा चिन्हांकन

Read-write campaign; राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण द्वारा प्रारंभ की जा रही है योजना, पढऩा-लिखना अभियान की तैयारियों से पूर्व कलक्टर (Collector) ने ली समीक्षा बैठक

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 13 Nov 2020, 12:38 AM IST

सूरजपुर. राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण द्वारा जिले में पढऩा लिखना अभियान (Read-write campaign) प्रौढ़ शिक्षा हेतु योजना प्रारंभ की जाने वाली है, जिसकी पूर्व तैयारी के संबंध में कलक्टर रणबीर शर्मा (Surajpur collector) द्वारा गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला स्तीय समीक्षा बैठक ली गई।

इसमें जिला शिक्षा अधिकारी, जिला मिशन समन्वयक सर्व शिक्षा अभियान, सर्व विकासखंड़ शिक्षा अधिकारी, नगरपालिका एवं नगर पंचायत के अधिकारी एवं संकुल समन्वयक सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी सम्मिलित हुए।


बैठक में पूर्व तैयारी के संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी एवं जिला मिशन समन्वयक के दौरा शासन के निर्देशों के अनुरूप विस्तृत जानकारी दी गई। इसमें बताया गया कि पढऩा लिखना अभियान के अन्तर्गत 15 वर्ष से अधिक आयु के असाक्षरों (Illiterate) को बुनियादी साक्षरता प्रदान किया जाना है।

प्रारंभिक रूप से प्रौढ़ शिक्षा हेतु असाक्षर लोगों का चिन्हांकन नगरपालिका एवं नगर पंचायत के अधिकारियों के माध्यम से किया जाना है, इसमें विशेषकर महिलाओं को प्राथमिकता के साथ चिन्हांकित किया जाना है।

उन्होंने बताया कि इस योजना द्वारा ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों के वे सभी जिले कवर किये जायेंगें जिनमें असाक्षर लोग हैं। इस संबंध में शासन से विस्तृत निर्देश जारी किये गये हैं, जिसे बैठक में बताया गया।


अधिक से अधिक करें प्रचार-प्रसार
कलक्टर रणबीर शर्मा द्वारा बताया गया कि इस संबंध में ग्रामीण क्षेत्रों एवं शहरी क्षेत्रों में पढऩा लिखना अभियान से संबंधित पर्याप्त प्रचार-प्रसार किया जाये जिससे समस्त जनों को शासन की योजना की जानकारी प्राप्त हो।

उन्होंने सर्वे कार्य हेतु दल का गठन किये जाने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों में जनपद स्तर के अधिकारी (Officers) एवं शहरी क्षेत्रों में नगर के अधिकारी शामिल होंगे।


शिक्षकों को नहीं मिलेगा वेतन
उन्होनें बताया है कि योजना अंतर्गत शिक्षण कार्य हेतु स्वैच्छिक शिक्षकों से कार्य लिया जाना है, जिसमें किसी भी प्रकार का वेतन प्रदाय नहीं किया जायेगा। कलक्टर (Collector) ने इस संबंध में उचित जानकारी प्रदाय करते हुए क्षेत्रों में स्वेच्छा से शिक्षण कार्य कराने वाले जनो को पूर्व में ही चिन्हांकित करने निर्देशित किया है।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned