इस जिले में मरे हुए व्यक्तियों के नाम पर तैयार किया जाता है पीएम आवास और...

इस जिले में मरे हुए व्यक्तियों के नाम पर तैयार किया जाता है पीएम आवास और...

Bhupesh Tripathi | Updated: 14 Jun 2019, 07:40:34 PM (IST) Surajpur, Surajpur, Chhattisgarh, India

* गड़बड़ी : हितग्राहियों की एक वर्ष पूर्व हो चुकी है मृत्यु, कागज बनाकर तैयार कर लिया आवास (pradhan mantri awas yojana) और कर लिया पुरे राशि का आहरण

सूरजपुर। रामचंद्रपुर विकासखंड के ग्राम रेवतीपुर में दो मृत व्यक्तियों के नाम प्रधानमंत्री आवास ( pradhan mantri awas yojana) कागजों में बनकर तैयार हो गए, वहीं जब इसकी भनक जब मृतकों के परिजन को लगी तो इसकी शिकायत जनपद सीईओ (CEO) से कर जांच की मांग की है। परिजन ने दोषियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की है।

जानकारी के अनुसार जनपद पंचायत (Block office) रामचंद्रपुर के ग्राम पंचायत रेवतीपुर के हरक की मृत्यु 1 वर्ष पूर्व हो चुकी है। वहीं इसी गांव के ही शिवशंकर की भी मृत्यु 1 वर्ष पूर्व हो चुकी है, लेकिन दोनों के नाम से प्रधानमंत्री आवास ( pradhan mantri awas yojana) की किश्त फर्जी (Scam) खाते में आती रही व आवास मित्र की मिलीभगत से कार्य का फर्जी मूल्यांकन भी होता रहा।

इस तरह से प्रधानमंत्री आवास की पूरी राशि निकाल ली गई। मृत हितग्राही हरक पिता जगन्नाथ, शिव शंकर पिता नेगा के परिजन को जब इनके नाम से प्रधानमंत्री आवास की राशि निकल जाने की जानकारी प्राप्त हुई तो उन्होंने अपने स्तर पता करने पर पाया कि मृतकों के नाम पर कागजों में प्रधानमंत्री आवास बनकर तैयार है और राशि भी निकाल ली गई है। अब परिजन ने पूरे मामले की शिकायत जनपद सीइओ से कर जांच की मांग की है। परिजन जर्जर मिट्टी के मकान में रहने को मजबूर हैं, जिन्हें प्रधानमंत्री आवास की आवश्यकता है।

बिना कार्य हुए तीन किश्तों में कैसे चला गया पैसा
प्रधानमंत्री आवास की राशि तीन किश्तों में हितग्राहियों को मिलती है। पहले किश्त के रूप में काम शुरू होने से पहले पुराने घर की फोटो व उसके समतल जमीन का फोटो जियो टैग करने पर 48000 रुपए हितग्राही के खाते में जाता है। इसके बाद दूसरी किश्त की राशि टॉप लेवल या डोर लेवल तक कार्य होने के बाद 48000 रुपए खाते में डाला जाता है एवं अंतिम किश्त में 34 हजार रुपए हितग्राही के खाते में प्राप्त होते हैं। आवास मित्र की मिलीभगत से इस फर्जीवाड़े को अंजाम दिया गया है।

पूरे ब्लॉक में अनियमितता की शिकायत
रामचंद्रपुर विकासखंड के 82 ग्राम पंचायतों में प्रधानमंत्री आवास ग्रामीण योजना को लेकर अनियमितता बरतने की शिकायत लगातार मिलते रहती है। यदि पूरे विकासखंड में इसकी सूक्ष्मता से जांच हो जाए तो और कई मामले सामने आ सकते हैं। तग्राहियों से पैसा वसूलने की भी शिकायत रामचंद्रपुर विकासखंड के कई ग्राम पंचायतों में प्रधानमंत्री आवास( pradhan mantri awas yojana) ग्रामीण के हितग्राहियों से प्रधानमंत्री आवास पास करने की एवज में पंचायत कर्मियों द्वारा पैसा वसूलने की भी बात कई बार सामने आ चुकी है। लेकिन आज तक कार्रवाई नहीं होने के कारण यह सब बदस्तूर चला आ रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned