महिला को मिली बच्चों की हत्या की धमकी, पुलिस आरोपी को पकडऩे पहुंची तो घर में मिला देशी कट्टा, हिरण की खाल और गांजा

Threat to killed: पुलिस ने आम्र्स एक्ट, एनडीपीएस एक्ट व वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम के तहत अपराध दर्ज कर आरोपी को किया गिरफ्तार, जमीन छोडऩे की बात को लेकर महिला को दी थी धमकी

By: rampravesh vishwakarma

Published: 26 Sep 2020, 09:12 PM IST

रामानुजनगर. एक महिला को जान से मारने की धमकी (Threat to killed) देने के मामले में जब पुलिस आरोपी के घर पहुंची तो वहां से हिरण की खाल, गांजा, महुआ शराब व देशी कट्टा भी मिला। इस पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जान से मारने की धमकी की धारा के साथ ही एनडीपीएस एक्ट, (NDPS act) आबकारी एक्ट व आम्र्स एक्ट की भी कार्रवाई की।


17 सितंबर को तेलईकछार केनापारा निवासी एक महिला को फोन कर किसी अज्ञात व्यक्ति ने जमीन संबंधी विवाद को लेकर धमकाते हुए कहा कि जमीन छोड़ दो नही तो तुम्हारे बच्चों को मार डालेंगे। इसकी रिपोर्ट महिला ने जयनगर थाने में दर्ज कराई।

मामले की विवेचना में पता चला कि रामबिलास भट्ट द्वारा धमकी दी गई थी, जो रामानुजनगर थाना क्षेत्र के ग्राम लब्जी में रहता है। मोबाइल पर धमकी (Threat) देने के मामले को गंभीरता से लेते हुए एसपी राजेश कुकरेजा ने जयनगर व रामानुजनगर की संयुक्त पुलिस टीम को आरोपी को पकडऩे के निर्देश दिए।

इसके बाद संयुक्त टीम ने आरोपी के घर पर दबिश देकर उसे हिरासत में लेकर पूछताछ करने लगी तो वह गोलमोल जवाब देने लगा। फिर शक होने पर पुलिस ने घर की तलाशी ली तो 1 किलो 480 ग्राम गांजा, 1 नग कोटरी का खाल (Deer skin), 1 नग देशी कट्टा व डिब्बे में 7 लीटर महुआ शराब मिला, जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया।

पुलिस ने आरोपी ग्राम लब्जी निवासी 42 वर्षीय रामबिलास भट्ट को गिरफ्तार कर जान से मारने की धमकी की धारा के अलावा के खिलाफ 20 बी एनडीपीएस एक्ट, आबकारी एक्ट, वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम व २५ आम्र्स एक्ट के तहत कार्रवाई की।


कोटरी की खाल व गांजा के बारे में ये बताया
पुलिस की पूछताछ में आरोपी बताया कि कोटरी के खाल को श्रीनगर के बाजार से किसी अज्ञात व्यक्ति से क्रय कर मांदर बनाने के लिए रखा था। गांजा को कुछ दिन पहले ओडिशा से आए एक व्यक्ति से खरीदकर पुडिय़ा बनाकर क्षेत्र में बेचता था। इसके अलावा महुआ शराब भी बेचता था।

उसने देशी कट्टा को कई वर्ष पहले अम्बिकापुर से खरीदना बताया जिसका कोई भी दस्तावेज नहीं है। आरोपी के खिलाफ वर्ष 2003 में मारपीट व आम्र्स एक्ट (Arms act) के तहत कार्यवाही हो चुकी है।


कार्रवाई में ये रहे शामिल
इस कार्यवाही में एसआई बीडी यादव, एएसआई माधव सिंह, विराट विशी, आरक्षक अनिल सिंह, दिलीप कुमार साहू, गणेश सिंह, वेदप्रकाश राजवाड़े, संतोष ठाकुर, देवान सिंह, तेरेशा तिग्गा व मानसाय सक्रिय रहे।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned