कैंसर पीडि़त पिता का इकलौता सहारा था बेटा, बुलेट से घर लौटते समय ट्रेलर ने दी दर्दनाक मौत

कैंसर पीडि़त पिता का इकलौता सहारा था बेटा, बुलेट से घर लौटते समय ट्रेलर ने दी दर्दनाक मौत

Ram Prawesh Wishwakarma | Publish: Apr, 17 2019 08:31:36 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 08:31:37 PM (IST) Surajpur, Surajpur, Chhattisgarh, India

युवा व्यवसायी की मौत से प्रशासन के प्रति नगरवासियों में आक्रोश, बेहिसाब रफ्तार में मौत बनकर चल रहे कोल वाहन

बिश्रामपुर. बिश्रामपुर-भटगांव मार्ग पर कॉलोनी की जर्जर सड़क पर स्थित राणा प्रताप चौक के समीप मंगलवार की रात तेज रफ्तार ट्रेलर ने बुलेट सवार युवा व्यवसायी को टक्कर मार दी।

गंभीर चोट लगने की वजह से युवक की मौके पर ही मौत हो गई। वह कैंसर पीडि़त पिता का एकमात्र सहारा था। इस हादसे से जहां परिजन सदमे में हैं, वहीं नगरवासियों में प्रशासन के प्रति काफी आक्रोश है।


सूरजपुर जिले के बिश्रामपुर रेलवे स्टेशन निवासी 32 वर्षीय अभिषेक गर्ग उर्फ रिक्की पिता अन्तु गर्ग मंगलवार की रात लगभग 11.30 बजे बुलेट से घर जा रहा था, इसी दौरान राणा प्रताप चौक के पास करंजी रेलवे साइडिंग से आ रहे कोयला लोड ट्रेलर क्रमांक सीजी 15 एसी 4605ने उसे टक्कर मार दी।

गंभीर चोट लगने की वजह से अभिषेक की मौके पर ही मौत हो गई। इस घटना से नगरवासियों में जर्जर सड़क व प्रशासन के रवैये को लेकर काफी आक्रोश है।


परिजन का रो-रोकर बुरा हाल
इस हादसे से मृतकों के परिजन का रो-रोकर बुरा हाल है। वह अपने घर का इकलौता वारिस था। उसकी शादी पिछले वर्ष ही हुई थी, पिता अन्तु गर्ग कैंसर की बीमारी से पीडि़त है। मृतक के चाचा नरेंद्र शर्मा टीटू का कुछ माह पूर्व ही बीमारी से निधन हो गया था। अब इस घटना से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।


जर्जर सड़क से स्कूली बच्चों के पालक दहशत में
बस स्टैंड बिश्रामपुर से पासिंग नाला तक कालोनी की सड़क पूरी तरह से जर्जर है। इसकी वजह से इस मार्ग पर आए दिन हादसे होते हैं। इस मार्ग से एक दर्जन स्कूलों के हजारों बच्चे साइकिल से व पैदल आना-जाना करते है। सड़क पर जगह-जगह गड्ढे हो गए हैं, ऊपर से भारी वाहन खूनी रफ्तार में दौड़ते हैं। स्कूली बच्चों के अभिभावक हादसे के भय से दहशत में रहते हैं।


कई बार हो चुका है आंदोलन
जर्जर सड़क के निर्माण कार्य को पूरा कराने के लिए नगर में भाजपा, कांग्रेस, जकांछ के नेता नगरवासियों के साथ मिलकर कई बार आंदोलन कर चुके हैं। करीब आधा दर्जन आंदोलन होने के बावजूद प्रशासन की नींद नहीं टूट रही है। प्रशासन अभी तक सिर्फ आश्वासन ही देता आया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned