कपड़ा व्यापारियों के साथ एक करोड़ की धोखाधड़ी

कपड़ा व्यापारियों के साथ एक करोड़ की धोखाधड़ी

Dinesh M Trivedi | Publish: Sep, 16 2018 11:01:41 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 11:01:42 PM (IST) Surat, Gujarat, India

तीन जनों के खिलाफ सलाबतपुरा थाने में मामला दर्ज

सूरत. कपड़ा व्यापारियों के साथ हरिओम मार्केट की एक पार्टी द्वारा एक करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। इस संबंध में सलाबतपुरा पुलिस ने तीन जनों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस के मुताबिक उधना आशानगर एकता अपार्टमेंट निवासी दिलीप कुमार सिंह, जीतेन्द्र कुमारसिंह व राकेश कुमार नायक उर्फ मजनू ने मिल कर पूणागाम अर्जुननगर सोसायटी निवासी अशोक मांगरोलिया व अन्य व्यापारियों के साथ धोखाधड़ी की।

रिंग रोड स्थित हरिओम टेक्सटाइल मार्केट में जय अंबे टेक्स व मां लक्ष्मी टेक्स के नाम से कारोबार करने वाले आरोपितों ने जनवरी में अशोक को भरोसे में लेकर उससे १४ लाख ५९ हजार रुपए की साडिय़ा उधार ली। इसी तरह अन्य व्यापारियों से८८ लाख १५ हजार ३७७ रुपए का माल उधार लिया लेकिन किसी को भुगतान नहीं किया। पैमेन्ट मांगने पर अपशब्द कहे और जान से मारने की धमकी दी।

ग्रे व्यापारी से की १४ लाख की धोखाधड़ी

इसी तरह ग्रे कपड़े के एक व्यापारी के साथ भी १४.८७ लाख रुपए की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। सबातपुरा पुलिस के मुुताबिक डिंडोली सम्राट एस्टेट निवासी निशा सिंह व सुबोध सिंह ने मिल कर सरथाणा प्रमुख पार्क सोसायटी निवासी गोपाल अमीपरा के साथ धोखाधड़ी की।

समर क्रिएशन व लाइफ स्टाइल के नाम से कारोबार करने वाले निशा व सुबोध ने गत १४ जुलाई से २७ जुलाई ेके दौरान १४ लाख ८७ हजार ६२२ रुपए का ग्रे कपड़ा उधार लिया लेकिन उसका भुगतान नहीं किया। इस पर गोपाल ने शनिवार को प्राथमिकी दर्ज करवाई।

पौने दो लाख रुपए के मुकुट की चोरी


सूरत. अठवा लाइंस प्लेटिनम रेजिडेंसी के एक मकान में जैन देरासर से पौने दो लाख रुपए का मुकुट चोरी हो गया। पुलिस ने संदेह के दायरे में आई २५-३५ साल की एक महिला के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक मुकुट फ्लेट नम्बर २०१ में बने गृह देरासर में मुनि सुव्रत स्वामी की मूति पर चढ़ाया गया था।

सोने के इस मुकुट में हीरे जड़े थे। बुधवार सुबह करीब दस बजे यह चोरी हो गया। जल्पेश दोषी की प्राथमिकी के आधार पर पुलिस ने शनिवार शाम मामला दर्ज किया। पुलिस सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रही है।

Ad Block is Banned