रात्रि कफ्र्यू का उलंघन रोकने गई पुलिस का विरोध, सौ से अधिक लोगों ने धार्मिक नारे लगा कर किया हमला

- लिम्बायत की ओमनगर सब्जी मंडी में हुई घटना, पुलिस ने बल प्रयोग कर मौके से 19 को लिया हिरासत में, महिलाओं समेत 110 के खिलाफ मामला दर्ज

# फोटो वायरल करने की धमकी देकर विवाहिता को बनाया हवस का शिकार
- मकान मालिक के खिलाफ चौकबाजार थाने में मामला दर्ज
# छेड़छाड़ व प्रताडऩा का आरोप

By: Dinesh M Trivedi

Updated: 17 May 2021, 08:53 PM IST

सूरत. लिम्बायत थानाक्षेत्र के ओमनगर सब्जीमंडी इलाके में रात्रि कफ्र्यू के उलंघन को रोकने गई पुलिस टीम का महिलाओं समेत सौ से अधिक लोगों ने धार्मिक नारे लगा कर विरोध किया। एक दो लोगों ने पुलिसकर्मियों पर लाठी से वार किया और धक्का मुक्की भी की। बाद में अतिरिक्त बल का प्रयोग कर पुलिस ने हालात पर काबू पाया और मौके से 19 जनों को गिरफ्तार किया।

इस घटना को लेकर पुलिस ने दस महिलाओं समेत करीब 110 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।पुलिस सू्त्रों के मुताबिक महिला पुलिसकर्मी शांता बेन व लोक रक्षक सतीष रात आठ बजे रात्रि कफ्र्यू लागू होने पर गश्त पर निकले थे। करीब साढ़े आठ बजे वे ओमनगर सब्जीमंडी में पहुंचे।

वहां पर कफ्र्यू का समय होने के बावजूद लोगों की चहल पहल थी। लोग सब्जी मंडी की गलियों में घूम रहे थे। उन्होंने सभी को वहां से घर चले जाने के लिए कहा। इस पर इम्तियाज अंसारी व इलियास अंसारी के लोगों को टोला उनकी ओर आया। इनमें कई महिलाएं भी थी।

उन्होंने पुलिस कार्रवाई में दखल की और वहां से नहीं हटने की बात कहने लगे। इम्तियाज ने लाठी से लोकरक्षक सतीष पर वार किया। उसके साथी इलियास ने धक्का मुक्की कर वर्दी के बटन तोड़ दिए। इस बीच कुछ महिलाओं ने शांताबेन के साथ धक्का मुक्की की।

उनके साथ अभद्र व्यवहार किया। वहां जुटी भीड़ ने धार्मिक नारे लगाए और पुलिस कार्रवाई की विरोध किया। इस संबंध में पुलिस कंट्रोल रूम को खबर मिलने पर अतिरिक्त पुलिस बल मौके पर पहुंच गया।

पुलिसकर्मियों ने हल्का बल प्रयोग कर जमा हुई भीड़ को तितर बितर किया और मौके से इम्तियाज, इलियास के अलावा यासीन अंसारी, अश्फी अंसारी, नफीज अंसारी, बेनियामिन हक, आसिफ मंसूरी, शोएब पिंजारी, सादिक मंसूरी, अल्ताफ पठान, युनुस राइन, शकील अंसारी, नीलेश शेख, आसिफ बोराजी, पीर मोहम्मद बोराजी, नौशाद अंसारी, अयुब अंसारी व एजाज अंसारी को हिरासत में ले लिया।

इस घटना को लेकर पुलिस ने दस अज्ञात महिलाओं समेत सौ से अधिक लोगों के खिलाफ उपद्रव फैलाने पर महामारी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। अन्य आरोपियों की पहचान कर उन्हें हिरासत में लेने की कवायद जारी है।

---------------
फोटो वायरल करने की धमकी देकर विवाहिता को बनाया हवस का शिकार
- मकान मालिक के खिलाफ चौकबाजार थाने में मामला दर्ज


सूरत. तीस वर्षीय विवाहिता को उसके पति की गैर मौजूदगी में मकान मालिक द्वारा हवस का शिकार बनाने का मामला सामने आया है। इस संबंध में पीडि़ता की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक वेडरोड रमणपार्क सोसायटी निवासी प्रदीप गोंडलिया ने डेढ़ माह पूर्व तीस वर्षीय विवाहिता के साथ बलात्कार किया था।

महिला का पति प्रदीप के दूर के रिश्ते में होने के कारण उसने अपना मकान किराए पर दिया था। फिर वह पीडि़ता के पति की गैर मौजूदगी में उसके बच्चों के साथ खेलने के बहाने घर में आता था। उस दौरान उसने अपने मोबाइल से पीडि़ता के बगल में बैठ कर कुछ फोटोग्राफ ले लिए थे। डेढ़ माह पूर्व जब पीडि़ता का पति काम पर गया हुआ था।

उस दौरान उसने पीडि़ता को फोटो वायरल करने की धमकी देकर पीडि़ता के साथ जबरदस्ती की। पीडि़ता ने इस बारे में पति को बताया और पति ने प्रदीप से बात की तो उसने बच्चों समेत पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी। इस पर पीडि़ता ने प्राथमिकी दर्ज करवाई।
------------------


छेड़छाड़ व प्रताडऩा का आरोप


सूरत. महाराष्ट्र की एक महिला ने लिम्बायत क्षेत्र में रहने वाले ससुर, पति व देवर पर छेड़छाड़ व प्रताडऩा का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज करवाई है। महिला का आरोप है कि गत फरवरी माह में उसके ससुर जगन्नाथ बोरकर ने पीडिता के साथ जबरदस्ती करने का प्रयास किया। पीडि़ता ने इसका विरोध किया तो उल्टा उसे ही अपशब्द कहे। देवर राजू ने मारपीट की। पीडि़ता ने पति सुरेश को बताया तो उसने बाहर किसी से भी इस बात का जिक्र नहीं करने की धमकी दी।
-----------------------------

Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned