script21 corona patients died in the third wave, 15 patients above 60 years | तीसरी लहर में 21 कोरोना मरीजों की मौत, 60 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले 15 मरीज | Patrika News

तीसरी लहर में 21 कोरोना मरीजों की मौत, 60 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले 15 मरीज

- ओमिक्रॉन संक्रमितों को कोरोना वैक्सीन से मिली बड़ी राहत...

 

सूरत

Updated: January 25, 2022 09:44:13 pm

संजीव सिंह @ सूरत.

शहर में कोरोना संक्रमण की रफ्तार में भले कमी आई है, लेकिन अब भी कोरोना पॉजिटिव मरीजों की प्रतिदिन मौत के मामले सामने आ रहे हैं। तीसरी लहर के जनवरी माह के रिकार्ड में 21 संक्रमितों की मृत्यु दर्ज हुई है। इसमें 60 वर्ष से अधिक 15 व्यक्ति, 18 से 45 वर्ष के 4 तथा 45 से 60 वर्ष के 2 संक्रमितों की मौत दर्ज की गई हैं। जाहिर है कि इस लहर में उन बुजुर्गों को वायरस ने नुकसान पहुंचाया, जिन्हें शुगर ब्लड प्रेशर व अन्य बीमारी भी थी। माना जा रहा है कि वैक्सीन के कारण भी गंभीर मरीज कम सामने आए। सूरत मनपा आयुक्त ने टेस्टिंग, ट्रेकिंग और ट्रीटमेंट से तीसरी लहर में मरीज घटने के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि वैक्सीन से ओमिक्रॉन को काबू करने में मदद मिली हैं।
तीसरी लहर में 21 कोरोना मरीजों की मौत, 60 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले 15 मरीज
तीसरी लहर में 21 कोरोना मरीजों की मौत, 60 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले 15 मरीज
कोरोना की दूसरी लहर में सूरत में सर्वाधिक 65 हजार से अधिक संक्रमित मिले थे और गंभीर 750 से अधिक पॉजिटिव मरीजों की मृत्यु हुई थी। इसमें मृत्यु का सबसे बड़ा कारण फेफड़े में कोरोना संक्रमण था। वेंटिलेटर, बाइपेप और ऑक्सीजन सपोर्ट वाले मरीजों की संख्या काफी बढ़ गई थी। तब जुलाई के बाद से शहर में मरीजों की संख्या घटकर 10-15 हो गई थी, जो आगे चलकर 2-4 पर सिमट गई थी। लेकिन दिसंबर के अंतिम सप्ताह में ओमिक्रॉन के कारण सूरत में तीसरी लहर की शुरुआत हुई। स्वास्थ्य विभाग ने अब तक सूरत में ओमिक्रॉन के 20 मरीजों की पुष्टि की है। इसके बाद जब कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या प्रतिदिन हजारों में आना शुरू हुई तो स्वास्थ्य विभाग ने ओमिक्रॉन के आंकड़े निकालना बंद कर दिए। अब 18 जनवरी से तीसरी लहर में मरीजों की संख्या घटने लगी है और प्रशासन ने राहत की सांस ली हैं।
मनपा आयुक्त बंछानिधी पाणि ने ‘राजस्थान पत्रिका’ को बताया कि ओमिक्रॉन केसों में कमी के संकेत मिले हैं। कोरोना पॉजिटिविटी रेट भी घटा है और अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीज भी कम हुए हैं। ओपीडी में भी आने वाले मरीजों की संख्या में कमी देखी जा रही है। लेकिन अभी भी शहरवासियों को कोरोना एप्रोपिएट बिहेवियर का पालन करते रहना चाहिए। उन्होंने बताया कि टेस्टिंग, ट्रेसिंग और ट्रीटमेंट (ट्रिपल-टी फार्मुला) से ओमिक्रॉन का काबू में करने के प्रयास किए हैं। हाल में 225 धन्वंतरी रथ से नि:शुल्क कोरोना टेस्टिंग अभियान चलाया जा रहा है। इसके अलावा 130 संजीवनी रथ से कोमोर्बिड मरीजों तथा अन्य बीमारियों मरीजों के लिए नि:शुल्क मोबाइल डॉक्टर की व्यवस्था की गई हैं। स्वास्थ्य अधिकारी जोनल और सेंट्रल कंट्रोल रूम, वेसू से विभिन्न टीमों की मॉनिटरिंग करते हैं। गौरतलब है कि तीसरी लहर के पीक में प्रतिदिन मिलने वाले संक्रमितों का आंकड़ा 3563 पहुंच गया था जो अब घटकर 1100-1200 के करीब आ गया है।
वैक्सीन से मिली मदद

मनपा आयुक्त बंछानिधी पाणि ने कहा कि कोरोना वैक्सीन लेने वाले संक्रमित को अस्पताल में भर्ती नहीं होना पड़ा। दूसरी तरफ बिना वैक्सीन लेने वाले संक्रमितों को अस्पताल में भर्ती किया गया और जरुरत के मुताबिक वैंटिलेटर, बाइपेप और ऑक्सीजन सपोर्ट पर भी रखा गया। उन्होंने कहा कि शहर में कोरोना वैक्सीन का प्रथम डोज 118 प्रतिशत और दूसरा डोज 90 प्रतिशत पूरा हो गया है। इसके बावजूद जिन्होंने वैक्सीन नहीं ली है उन्हें वैक्सीन ले लेनी चाहिए।

स्कूल-कॉलेज बंद होने के बाद बच्चों में संक्रमण घटा

दिसंबर में तीसरी लहर की शुरुआत हुई तब शहर के सभी स्कूलें चालू थी। स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना संक्रमण बढऩे पर स्कूलों में मास्क, सेनेटाइजर और हाथ धोने का नियम लागू किया था। लेकिन तीसरी लहर में एका-एक बच्चों में तेजी से संक्रमण फैलता हुआ दिखाई दिया। चौबीस घंटे में 100 से अधिक विद्यार्थी पॉजिटिव आना शुरू हो गए थे। उनमें से कुछ बच्चों को भर्ती भी करना पड़ा। अब बच्चों में भी संक्रमण घटना शुरू हो गया है। अभी प्रतिदिन 1200 से 1500 लोग पॉजिटिव सामने आ रहे हैं, इसमें बच्चों की संख्या 30 से 40 होती हैं।
60 वर्ष से अधिक कोमोर्बिड की अधिक मृत्यु

मनपा स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि शहर में जनवरी में तीसरी लहर के दौरान कुल 21 कोरोना संक्रमित मरीजों की मृत्यु रिकार्ड पर दर्ज की गई हैं। इसमें उम्र के मुताबिक सबसे अधिक मौतें 60 वर्ष से अधिक उम्र के कोमोर्बिड मरीजों की हुई है। सूत्रों ने बताया कि 60 वर्ष से अधिक 15 संक्रमितों ने अस्पताल में दम तोड़ा है। इसके अलावा 18 से 45 वर्ष के 4 और 45 से 60 वर्ष के दो संक्रमितों की मृत्यु हुई हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.