बगावत करने वाले 21 जनों को भाजपा से निकाला

बगावत करने वाले 21 जनों को भाजपा से निकाला

Sunil Mishra | Publish: Feb, 15 2018 10:38:07 PM (IST) Surat, Gujarat, India

सभी निर्दलीय लड़ रहे हैं चुनाव
पार्टी से छह साल के लिए निलंबित करने की घोषणा
स्थानीय निकाय चुनाव 17 फरवरी को



नवसारी. बिलीमोरा नगरपालिका चुनाव में भाजपा से बगावत कर निर्दलीय चुनाव लड़ रहे 21 सदस्यों को पार्टी ने बाहर का रस्ता दिखा दिया है। भाजपा जिला अध्यक्ष व गणदेवी विधायक नरेश पटेल ने दल विरोधी कार्य के कारण इन सभी को पार्टी से छह साल के लिए निलंबित करने की घोषणा की।
भाजपा द्वारा नपा चुनाव में टिकट वितरण के प्रति असंतोष के बाद स्थानीय पदाधिकारियों समेत कई लोगों ने बगावत का रास्ता अपनाते हुए निर्दलीय उम्मीदवारी की है। पार्टी के नेताओं के समझाने के बाद भी नामांकन वापस न लेने के बाद उनके खिलाफ यह कार्रवाई की गई है। इसमें वार्ड नंबर एक से चुनाव लड़ रहे शहर अनुुसूचित जनजाति मोर्चा अध्यक्ष मुकेश पटेल, प्रमोद सोलंकी, भारती सोला, रीटा सोलंकी, वार्ड नंबर दो से चुनाव लड़ रहे शक्ति केन्द्र अध्यक्ष किरण गोरड, प्रेमजी चोपड़ा, महेन्द्र सोसा, वालजी सोसा, वार्ड नंबर तीन से लड़ रहे गणदेवी तहसील बजरंग दल अध्यक्ष हिरेन शाह, जिला कारोबारी सदस्य जमनादास घीवर, अरविन्द पटेल, मंजुला पटेल, वार्ड नंबर चार से चुनाव लड़ रहे ओबीसी प्रकोष्ठ के शहर अध्यक्ष जयप्रकाश पटेल, सुरेश कुमार घीवर, वार्ड नंबर पांच से लड़ रहे शहर युवा मोर्चा मंत्री तौहिल पटेल, नगरपालिका सदस्य धर्मेश पटेल, वार्ड नंबर आठ से चुनाव लड़ रहे शक्ति केन्द्र अध्यक्ष कमलेश पटेल, सुमंतराय पटेल, वार्ड नंबर नौ से लड़ रहे दिनेश माली, अनुपमा परमार और मनसुख कुकडिय़ा के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

 

बिलीमोरा में सत्ता बरकरार रखने की कोशिश
बिलीमोरा नपा में भाजपा द्वारा जहां अपनी सत्ता बरकरार रखने की कोशिशें हो रही हैं, वहां पार्टी के ही कई पदाधिकारियों द्वारा बगावत कर निर्दलीय खड़े होने से चुनाव में नुकसान होने की आशंका व्यक्त की जा रही है। इससे पहले भी पार्टी में शहर अध्यक्ष के खिलाफ नाराजगी का प्रदर्शन कार्यकर्ताओं द्वारा किया जा चुका है।

प्रचार के अंतिम दिन दोनों दलों ने लगाया जोर
वापी. पारड़ी नगरपालिका के लिए 17 फरवरी को होने वाले चुनाव प्रचार का दौर गुरुवार शाम से थम गया। अंतिम दिन भाजपा और कांग्रेस ने रोड शो और रैली कर अपना दमखम दिया। पारड़ी नपा के आठ वार्ड की 32 सीटों पर 20 हजार, 905 मतदाता ईवीएम से मतदान करेंगे। चुनाव 32 बूथो पर होगा। चुनाव में 64 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमा रहे हैं। गुरुवार को प्रचार के अंतिम दिन भाजपा के पक्ष में सांसद केसी पटेल और पारड़ी विधायक कनु देसाई समेत अन्य कई नेताओं ने रैली और रोड शो किया। विभिन्न क्षेत्रों मे वाहन रैली के माध्यम से जनसंपर्क कर पार्टी के लिए मतदान का अनुरोध किया गया।
दूसरी तरफ कांग्रेस ने भी वाहन रैली निकालकर मतदाताओं से संपर्क किया। हालांकि कोई बड़ा नेता पार्टी के प्रचार में नजर नहीं आया। गौरतलब है कि 1995 में पारड़ी नपा का गठन होने के बाद से यहां भाजपा का ही शासन रहा है। पार्टी इस बार भी सत्ता बरकरार रखने के लिए कोई कसर नहीं छोडऩा चाहती है।

 

प्रचार का शोर थमा, अब घर-घर जनसम्पर्क
वलसाड. वलसाड नगरपालिका के चुनाव 17 फरवरी को होंगे। चुनाव प्रचार का शोर गुरुवार शाम पांच बजे थम गया। हालांकि उम्मीदवारों ने घर-घर जाकर प्रचार शुरू कर दिया है। शहर के ११ वार्ड में होने वाले चुनाव को लेकर कांग्रेस और भाजपा के प्रत्याशियों के अलावा निर्दलीय प्रत्याशी भी जोर आजमाइश कर रहे हैं। सभी उम्मीदवार जीतने के लिए भरपूर मशक्कत कर रहे हैं। 17 फरवरी को मतदान के बाद पेटियां खुलने के बाद ही पता चलेगा कि कौन नगरपालिका पर कब्जा जमाता है। वलसाड नगरपालिका में पिछले पांच सालों से भाजपा शासन कर रही है। पार्टी ने जिन पार्षदों के टिकट काटे, उन्होंने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में मैदान में ताल ठोंक दी। इधर पार्टी ने निर्णय लिया है कि जिन्होंने पार्टी से बगावत की है, उन्हें छह साल के लिए सस्पेंड किया जाएगा।

Ad Block is Banned