Election/ सूरत में 46 फीसदी मतदान, 484 प्रत्याशियों का भावि ईवीेएम में कैद

सबसे अधिक 52.03 फीसदी मतदान वार्ड नं.7 कतारगाम-वेडरोड में तो सबसे कम 34.66 फीसदी मतदान वार्ड नं.21 सोनीफलिया, नानपुरा-अठवा-पीपलोद में

By: Sandip Kumar N Pateel

Updated: 22 Feb 2021, 11:23 AM IST

सूरत. सूरत महानगर पालिका के चुनाव के लिए रविवार को मतदान हुआ। शाम छह बजे मतदान का समय खत्म होने के साथ ही चुनावी मैदान में उतरे 484 प्रत्याशियों का भविष्य ईवीएम में कैद हो गया। सूरत में निरस माहौल में मतदान के साथ सिर्फ 43.18 फीसदी मतदान हुआ। 23 फरवरी को परिणामों की घोषणा होगी।

प्रशासन की ओर से शहर में 3185 मतदान केन्द्र बनाए गए थे। कुल पंजीकृत मतदाताओं की संख्या 32.88 लाख थी। प्रमुख राजनीतिक दल भाजपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी और अन्य राजनीतिक दल तथा निर्दलिय प्रत्याशियों समेत कुल 484 मतदाता चुनावी मैदान उतरे थे। सुबह सात बजे से मतदान केन्द्रों में मतदान शुरू हुआ और शाम छह बजे तक चला। शांतिपूर्ण माहौल में मतदान प्रक्रिया पूर्ण हुई। छीटपुट विवादों के अलावा कही से कोई अप्रिय घटना की खबर नहीं आई। चुनाव आयोग के मुताबिक सूरत में शाम छह बजे तक 43.18 फीसदी मतदाताओं ने मतदान किया।


यूं आगे बढ़ा मतदान


सुबह सात बजे मतदान शुरू होने के साथ मतदाता मतदान केन्द्रों पर पहुंचने लगे। पहले दो घंटे में 9 फीसदी मतदान हुआ। इसके बाद दोपहर 12 बजे तक 20 फीसदी। अमूमन दोपहर बारह बजे के बाद महिला मतदाता बड़ी संख्या में मतदान के लिए बाहर निकलती थी, लेकिन इस बार ऐसा नजर नहीं आया। 1 से 3 बजे तक सिर्फ 11 फीसदी मतदान की बढ़ोतरी के साथ प्रतिशत का आंकड़ा 33 फीसदी पर पहुंचा।अंतिम तीन घंटे में मतदान में रफ्तार आई और शाम छह बजे तक 43.18 फीसदी मतदान हुआ।


सबसे अधिक मतदान वार्ड नं.7 में तो सबसे कम वार्ड नं.21 में


रविवार को हुए मतदान में सबसे अधिक 52.03 फीसदी मतदान वार्ड नंबर 7 कतारगाम-वेडरोड में हुआ तो सबसे कम 34.66 फीसदी मतदान वार्ड नंबर 21 सोनीफलिया-नानपुरा-अठवा-पीपलोद में हुआ। सिर्फ दो वार्ड में मतदान का प्रतिशत 50 के आंकड़े को पार कर पाया। अधिकतर वार्डो में 40 से 48 फीसदी के बीच मतदान का प्रतिशत रहा।


कोविड़ गाइड लाइन का सख्ती से पालन


मतदान प्रक्रिया के दौरान मतदान केन्द्रें पर कोविड़ गाइड लाइन का सख्ती से पालन होते नजर आया। मतदाताओं को थर्मल स्क्रीनिंग और हाथों को सेनेटाइज करने के बाद ही बूथ में प्रवेश दिया गया। साथ ही मतदान के लिए उन्हें डिस्पॉजल हैंड ग्लॉज दिए गए।

Sandip Kumar N Pateel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned