script49-year-old Akhtar married a 20-year-old girl posing as Mukesh in sura | LOVE JEHAD : 49 वर्षीय अख्तर ने मुकेश बन कर 20 वर्षीय युवती से की शादी | Patrika News

LOVE JEHAD : 49 वर्षीय अख्तर ने मुकेश बन कर 20 वर्षीय युवती से की शादी

- सूरत लव जेहाद मामला दर्ज...

- बच्चे के जन्म के बाद राजफाश होने पर धर्म परिवर्तन के लिए डाला दवाब

- रेलवे में नौकरी का झांसा देकर युवती के परिजनों से ऐंठे 13.70 लाख रुपए

सूरत

Updated: August 14, 2021 01:41:20 pm

सूरत. डिंडोली इलाके में 49 वर्षीय अख्तर नाम के युवक द्वारा मुकेश नाम से फर्जी पहचान देकर 20 वर्षीय युवती से शादी करने और बच्चे के जन्म के बाद धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर करने का मामला साने आया है। इस संबंध में पीडि़त युवती की शिकायत पर डिंडोली पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी युवक को हिरासत में ले लिया है।
LOVE JEHAD : 49 वर्षीय अख्तर ने मुकेश बन कर 20 वर्षीय युवती से की शादी
LOVE JEHAD : 49 वर्षीय अख्तर ने मुकेश बन कर 20 वर्षीय युवती से की शादी
जानकारी के अनुसार, बीस वर्षीय पीडि़ ता 2018 में एक मोबाइल स्टोर में काम करती थी। उस दौरान आरोपी उसके संपर्क में आया था। वह ग्राहक बन कर आया था। उसने पीडि़ता को अपनी पहचान मुकेश महावीर गुप्ता के रूप में दी थी। पीडि़ता ने उसे और ग्राहक लाने के लिए कहा इस पर उसने दस पन्द्रह ग्राहक पीडि़ता को दिए।
इसके बाद दोनों में दोस्ती हुई और उसने खुद को अविवाहित बता कर पीडि़ता को अपने प्रेम जाल में फंसा लिया। उसकी उम्र अधिक होने के कारण पीडि़ता को अंदेशा था कि उसके परिजन उसे स्वीकार नहीं करेंगे। 2019 उन्होंने कडोदरा के एक मंदिर में शादी कर ली और दोनों डिंडोली इलाके में साथ साथ रहने लगे। बाद में उसने पीडि़ता के परिजनों को रेलवे में नौकरी होने की बात बताई।
लंबे समय तक पीडि़ता से अपनी असली पहचान छिपाए रखी। इस बीच उन्हें एक संतान भी हुई। आरोपी ने मुकेश नाम से अपना फर्जी आधार कार्ड बनाया हुआ था। उसी से बच्चे के जन्म पंजीकरण करवाया था, लेकिन वह समय- समय पर कीम दरगाह में जाता था और बच्चे के जन्म के बाद उसे भी वहां ले गया था। वह मुस्लिम धर्म को अच्छा बता कर पीडि़ता को बुर्का पहनने और नमाज पढऩे के लिए दबाव डालता था। ऐसा नहीं करने पर पीडि़ता के साथ मारपीट भी करता था।

शादी शुदा व चार संतानों का पिता :

पीडि़ता को उस पर संदेह हुआ। तीन माह पूर्व उसने एक दिन उसका मोबाइल देखा तो उसमें मोहम्मद अख्तर शेख नाम का उसका फोटो लगा असली आधार कार्ड मिला। जिस पर छत्रपति शिवाजीनगर लिम्बायत का पता दर्ज था। पीडि़ता ने पड़ताल की तो पता चला कि वह शादीशुदा है और उसकी चार संतानें भी हैं।
पीडि़ता ने इस धोखे को लेकर उससे बात की तो उससे झगड़ा किया और मारपीट कर उसके बच्चे को लेकर चले जाने और पीडि़ता को जान से मारने की धमकियां दी। लगातार झगड़े होने पर पीडि़ता ने एक समाजसेवी की मदद से इस संबंध में दी डिंडोली पुलिस से संपर्क किया और लिखित शिकायत दी। जिसकी पड़ताल करने के बाद पुलिस ने गुरुवार को मामला दर्ज किया। पुलिस ने कार्रवाई के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस उससे पूछताछ में जुटी हैं।

परिजनों के साथ की लाखों ठगी :
शादी के बाद अख्तर ने पीडि़ता के परिजनों को रेलवे में टीसी की नौकरी होने की बात बता कर कायल कर लिया। उसने पीडि़ता के मामा, चाचा व एक रिश्तेदार के साथ भी 13.70 लाख रुपए की ठगी की। उसने अपनी पहुंच से उन्हें रेलवे में नौकरी दिलवाने का झांसा देकर उसके चाचा से 5.50 लाख रुपए, मामा से 2.60 लाख रुपए व एक अन्य रिश्तेदार से 5.60 लाख रुपए ऐंठ लिए थे। बाद में जब उसका राज खुला तो पता चला कि तीन साल पूर्व वह सूरत रेलवे स्टेशन पर स्टॉल चलाता था, लेकिन बाद में उसका ठेका भी रद्द हो गया था।
---------------------------

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.