bio-diesel : जीप में बना रखा था चलता फिरता बायो-डीजल पंप


- एसओजी ने कतारगाम इलाके से जीप जब्त कर दो जनों को पकड़ा

By: Dinesh M Trivedi

Updated: 21 Aug 2021, 01:03 PM IST


सूरत. शहर में धड़ल्ले से हो रही बॉयोडीजल की अवैध बिक्री का एक और मामला सामने आया है। कतारगाम इलाके में दो युवकों ने एक जीप में मोबाइल बॉयोडीजल पंप बना रखा था। वे निजी ट्रेवल्स बसों की पार्किंग मे अवैध रूप से बॉयो डीजल की बिक्री करते थे। एसओजी पुलिस के मुताबिक, कामरेज श्यामनगर निवासी गोपाल मेवाड़ा व पासोदरा सौराष्ट्र टाउनशिप निवासी प्रदीप गोंडलिया अपने भागीदार वराछा निवासी परेश रुपापरा के साथ मिलकर अवैध रूप से बायो-डीजल की बिक्री करते थे। परेश ने कतारगाम हाथी मंदिर रोड स्थित प्रणामी ट्रेवल्स पार्किंग जगह पर किराए पर ले रखी थी। जहां वह निजी ट्रेवल्स बसों को पार्किंग की सुविधा मुहैया करवाता था। वहीं, डीजल के दाम बढऩे पर गोपाल व प्रदीप के साथ मिलकर बायो-डीजल की बिक्री शुरू की थी। इसके लिए उन्होंने एक बोलेरो जीप को विशेषतौर से तैयार किया था। जीप में उन्होंने टैंक बना रखे थे। साथ ही डीजल डिस्पेंसर यूनिट (पंप) भी लगा रखा था। उस जीप से वे बायो डीजल पार्किंग में लाते थे और वहां आने वाले निजी बस चालकों को 72 रुपए लीटर के हिसाब से डीजल बेचते थे। इस बायो डीजल में वे कई तरह की मिलावट भी करते थे। उनके बारे में मुखबिर से सूचना मिलने पर एसओजी पुसिल ने छापा मारा। पुलिस ने तहसीलदार व फोरेन्सिक टीम को मौके पर बुलाकर जांच करवाई और फिर सिंगणपोर थाने में मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू की।

बायो डीजल का उपयोग नहीं करने की अपील :

डीजल के दाम बढऩे के बाद से शहर में कई ट्रक चालक, निजी बसों के चालक अवैध रूप से बिकने वाले सस्ते और हल्की गुणवत्ता वाले बायोडीजल का उपयोग करते हैं। पुलिस ने मिलावट कर तैयार किए जाने वाले इस डीजल का इस्तेमाल नहीं करने की अपील की हैं। इस डीजल के इस्तेमाल से न सिर्फ पर्यावरण को नुकसान होता है, बल्कि कई बार बड़े हादसों का कारण भी बनता है।

Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned