KAMLESH TIWARI MURDER CASE : शिक्षिका है फरार अशफाक की पत्नी

SURAT NEWS :
- कमलेश तिवारी हत्याकांड फैजान व अश्फाक के मकान पर ताला,परिवार भी गायब

सूरत. हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या के मामले में पकड़े गए रशीद, फैजान, वांछित अशफाक और मोइनुद्दीन पठान उर्फ फरीद के मोहल्ले में रविवार को खामोशी थी।

लिम्बायत की पदमावती सोसायटी में जिलानी पार्क अपार्टमेंट के फ्लैट नम्बर ३०२ में रहने वाले फैजान के मकान पर ताला था। शुक्रवार रात फैजान की गिरफ्तारी के बाद से उसका परिवार गायब है। जानकारों ने बताया कि उसके पिता का पास ही पान का केबिन है। वह माता-पिता और छोटे भाई के साथ करीब आठ साल से यहां रह रहा था। यह परिवार अहमदाबाद से सूरत शिफ्ट हुआ था।

KAMLESH TIWARI MURDER CASE : शिक्षिका है फरार अशफाक की पत्नी

दसवीं में फेल होने पर फैजान ने पढ़ाई छोड़ दी थी। उसने जूतों के शोरूम में नौकरी शुरू की। वह सुबह दस बजे जाता और रात दस बजे लौटता। वह किसी से अधिक बातचीत नहीं करता था। शुक्रवार रात पुलिस उसे उठा ले गई। सुबह उसका परिवार मकान पर ताला लगा कर कहीं चला गया।

KAMLESH TIWARI MURDER CASE : शिक्षिका है फरार अशफाक की पत्नी

जिलानी पार्क अपार्टमेंट के ठीक सामने रिवर व्यू अपार्टमेंट के फ्लैट नम्बर ८०१ में रहने वाले रशीद पठान, उसके भाई फरीद और फ्लैट नम्बर ३०३ निवासी अशफाक शेख के बारे में बताया जाता है कि इनके रंग-ढंग बदले हुए थे। कम्प्यूटर में डिप्लोमा कर चुका रशीद दुबई की किसी पाकिस्तानी कंपनी में नौकरी करता था।

वह दो महीने पहले दुबई से सूरत आया था, लेकिन यहां कोई कामकाज नहीं कर रहा था। अधिकतर समय वह अपार्टमेंट की पार्किंग में लडक़ों के साथ खेलता रहता था। उसने पुराने मित्रों से किनारा कर लिया था। फरीद, अशफाक और फैजान के साथ उसकी घनिष्ठता बढ़ गई थी। इन तीनों ने भी पुराने मित्रों से मेल-जोल कम कर दिया था।

KAMLESH TIWARI MURDER CASE : शिक्षिका है फरार अशफाक की पत्नी

मौलाना मोहसिन भी कथित तौर पर इनसे मिलने आता था। अशफाक के बारे में बताया जाता है कि वह अहमदाबाद का है तथा तीन साल पहले ही यहां रहने आया था। उसकी पत्नी सरकारी स्कूल में शिक्षिका है। कमलेश हत्याकांड से एक-दो दिन पहले अशफाक अपना मकान बंद कर चला गया था।

KAMLESH TIWARI MURDER CASE : शिक्षिका है फरार अशफाक की पत्नी

पिता ने कहा- रशीद बेगुनाह
रशीद के अब्बा ने पत्रिका से बातचीत में बताया कि रशीद बेगुनाह है। उसे बेवजह फंसाया जा रहा है। रशीद यहीं था, वह कहीं नहीं गया था। शुक्रवार रात करीब १५ पुलिस वाले आए। तब भी मैं धार्मिक पुस्तक पढ़ रहा था। रशीद और सईद ने दरवाजा खोला तो वह बिना कुछ बताए उन्हें ले गए। उन्हें कहां ले जा रहे हैं और क्यों ले जा रहे हैं, इस बारे में कुछ नहीं बताया गया। शनिवार शाम उन्होंने सईद को छोड़ दिया। रशीद कहां है, हमें कुछ नहीं मालूम। सईद की अगले महीने शादी है। उसकी तैयारियां चल रही थीं।

Show More
Dinesh M Trivedi
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned