आरोपी प्रबंधक को गिरफ्तार कर तीन दिन के रिमांड पर लिया


- माहेश्वरी भवन से 74.16 लाख के गबन का मामला

By: Dinesh M Trivedi

Published: 25 Oct 2020, 09:43 PM IST

सूरत. सिटी लाइट स्थित माहेश्वरी भवन से 74.16 लाख रुपए के मामले में आरोपी प्रबंधक को आखिरकार उमरा पुलिस ने गिरफ्तार कर तीन दिन के रिमांड पर लिया है। पुलिस का कहना हैं कि आरोपी मनोहर ने गबन की गई राशि किन किन खातों में ट्रांसफर की तथा उसके साथ इसमें और कौन कौन शामिल था। इस बारे में उससे पूछताछ की जा रही है।

गौरतलब हैं कि गत 17 सितम्बर को माहेश्वरी भवन की प्रबंधन समिति के सत्यनारायण दरगड़ ने भवन के प्रबंधक व खजांची ने मनोहर शर्मा पर गबन का आरोप लगाते हुए उमरा थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई थी। जिसमें आरोप लगाया गया था कि अप्रेल 2016 से जनवरी 2020 के दौरान भवन के हॉल और कमरों के किराये पर देने के बिलों में छेड़छाड़ की। हॉल व कमरों की बुकिंग करवाने वालों से वह नियमानुसार बिल बना कर राशि वसूल लेता था। बाद में जो कम ज्यादा का रिफंड किया जाता हैं। उनके साथ छेड़छाड़ की।

74 लाख 16 हजार 931 रुपये अपने परिचितों के खातों में ट्रांसफर कर दिए। जब हिसाब मांगा गया तो छुट्टी पर अपने गांव राजस्थान के सीकर जिले मरण चला गया। वहां से 50 हजार रुपये लौटाए और बताया कि अपना प्लाट बेच कर शेष राशि चुकाने की बात की लेकिन रुपए नहीं लौटाए। मामला दर्ज होने के बाद उमरा पुलिस उसे सूरत लेकर आई। लेकिन कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर उसे 14 दिन क्वारंटाइन रखा गया। उसके ठीक होने के बाद पुलिस ने दुबारा हिरासत में लेकर टेस्ट करवाया तो फिर पॉजिटिव पाया गया।

उसकी गिरफ्तारी में हो रही ढिलाई को लेकर कुछ लोगों ने प्रबंधन नीयत पर भी सवाल उठाए थे। उन्होंने आरोप लगाया था कि पुलिस के साथ मिली भगत कर गिरफ्तारी को टाला जा रहा हैं। मनोहर से पूछताछ में इस घपले में लिप्त प्रबंधन के लोगों के राज भी खुल सकते है। वहीं उमरा थाना प्रभारी ने बताया कि चार साल का लंबा हिसाब किताब हैं। उसकी जांच की जा रही है। मनोहर के साथ जो लोग भी इस घपले में लिप्त पाए जाएगें। उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सोने में निवेश झांसा देकर 3.67लाख की ठगी


सूरत. सोने में निवेश का झांसा देकर एक व्यापारी के साथ 3.67लाख रुपए की ठगी करने के आरोप में उमरा पुलिस ने घौड़दौड़ रोड की एक कंपनी के दो जनों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस के मुताबिक घौड़दौड़ रोड स्थित वेस्ट फिल्ड शॉपिंग सेन्टर में ‘ट्रैड गोल्ड माइन’ के नाम से फाइनेंस कंपनी चलाने वाले शिवम तिवारी व मनोज ने सरथाणा अक्षरधाम सोसायटी निवासी शांतीलाल सुहागिया के साथ ठगी की। उन्होंने अक्टूबर 2019 में उन्होंने शांतीलाल को सोने में निवेश की अलग अलग स्कीमें बना कर 3 लाख 67 हजार 980 रुपए का निवेश करवाया। उसके बाद अपनी कंपनी का कार्यालय बंद कर फरार हो गए।

Patrika
Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned