राहत: लंबे विवाद के बाद आखिरकार वीएनएसजीयू के कॉलेज की सूची में आठ अनुदानित कॉलेज शामिल

- वीएनएसजीयू ने कॉलेज की सूची में किया सुधार, विद्यार्थियों और अभिभावकों को राहत

By: Divyesh Kumar Sondarva

Published: 14 Aug 2021, 12:39 PM IST

सूरत.
सूरत और बारडोली के आठ अनुदानित कॉलेजों के मामले में पिछले कई दिनों से विवाद चल रहा है। आखिरकार इन अनुदानित कॉलेजों को वीएनएसजीयू की सूची में शामिल किए जाने से विद्यार्थियों और अभिभावकों को राहत मिली है। लेकिन अभी भी यह विवाद पूरी तरह से सुलझा नहीं है। सरकार की ओर से स्पष्टता का अभी भी इंतजार किया जा रहा है। इसके बाद ही इस समस्या का समाधान हो पाएगा।
सार्वजनिक एजूकेशन सोसाइटी और वनिता विश्राम को निजी विश्वविद्यालय की मान्यता मिलने के बाद अनुदानित कॉलेजों को लेकर विवाद शुरू हो गया था। वीएनएसजीयू ने प्रवेश प्रक्रिया शुरू की तो उसमें आठ अनुदानित कॉलेजों को सूची में शामिल नहीं किया। इसे लेकर छात्र संगठन, विद्यार्थी और प्राध्यापकों ने विरोध शुरू किया। कुलपति को ज्ञापन सौंपे गए। सिंडीकेट सदस्यों ने भी इसका विरोध किया। सरकार की ओर से स्पष्ट नहीं होने के कारण वीएनएसजीयू ने इस मामले में कोई निर्णय नहीं लिया। यहां तक की निजी विश्वविद्यालय की मान्यता मिलने के बाद संचालकों ने भी चुप्पी साध ली। इस मामले को सिंडीकेट में शामिल किया गया। इसे लेकर देर तक चर्चा चली। सभी ने अनुदानित कॉलेजों को प्रवेश में शामिल करने का तय किया। इस निर्णय के बाद वीएनएसजीयू ने तुरंत ही अपने कॉलेजों की प्रवेश सूची में सुधार किया। अनुदानित कॉलेजों को प्रवेश में शामिल कर दिया गया है। अनुदानित कॉलेजों का नाम सूची में देख विद्यार्थियों और अभिभावकों ने राहत का अनुभव किया। लेकिन अभी भी इस मामले में सरकार की स्पष्टता बाकी है। सरकार के निर्णय पर ही सारा मामला टीका हुआ है। अभी चोईस फिलिंग राउंड शुरू नहीं हुआ है। सभी को उम्मीद है कि चोईस फिलिंग राउंड शुरू होने से पहले इस मामले में कोई ठोस फैसला आ जाए।
-----

Divyesh Kumar Sondarva Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned