छह महीने बाद पास समन्वयक कथीरिया की सूरत में एंट्री, पाटीदारों ने किया स्वागत

राजद्रोह मामले में छह महीने तक सूरत में प्रवेश नहीं करने की शर्त पर उच्च न्यायालय ने दी थी जमानत

सूरत. राजद्रोह मामले में आरोपित पास समन्वयक अल्पेश कथीरिया ने छह महीने बाद मंगलवार सुबह सूरत में प्रवेश किया। पाटीदारों ने उसका फूलों की माला पहनाकर स्वागत किया। सूरत में छह महीने तक प्रवेश नहीं करने की शर्तो के आधिन उसे जमानत पर रिहा किया था।


छह महीने की मियाद पूरी होने पर मंगलवार को अल्पेश कथीरिया ने नवसारी से सूरत में प्रवेश किया। उसके साथ बड़ी संख्या में पास कार्यकर्ता मौजूद थे। घर पहुंचने पर माता-पिता और रिश्तेदारों ने भी फूलों की माला पहना कर उसका स्वागत किया। अल्पेश ने मीडिया से बाचतीच करते हुए कहा कि भले वह पहले जेल में और बाद में छह महीने तक सूरत से बाहर रहे हो, लेकिन इससे उनका मनोबल मजबूत हुआ है। गौरतलब है कि अमरोली थाने में दर्ज राजद्रोह मामले में क्राइम ब्रांच पुलिस ने अल्पेश कथीरिया को गिरफ्तार किया था। इस मामले में सेशन कोर्ट ने उसे जमानत पर रिहा कर दिया था, लेकिन शर्तो के उल्लंघन के कारण सरकार की ओर से उसकी जमानत रद्द करने की मांग की जाने पर सेशन कोर्ट ने जमानत रद्द कर दी और 18 फरवरी, 2019 को पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। उसने उच्च न्यायालय में जमानत के लिए याचिका दायर की थी। 31 जुलाई को उच्च न्यायालय ने जमानत याचिका मंजूर करते हुए छह महीने तक सूरत में प्रवेश नहीं करने शर्त पर जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया था।

Show More
Sandip Kumar N Pateel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned