दक्षिण गुजरात में शराब तस्करी जोरों पर

रोजाना जब्त हो रही लाखों की शराब, नवसारी जिले से तीन गिरफ्तार

By: Sunil Mishra

Published: 25 Feb 2018, 10:55 PM IST


सूरत. दक्षिण गुजरात के सूरत, नवसारी, वलसाड आदि जिलों में शराब तस्करी का धंधा जोरों पर है। पुलिस रोजाना लाखों रुपए की शराब जब्त कर रही है। गुजरात में शराबबंदी लागू होने के बावजूद पुलिस की नाक के नीचे शराब तस्कर सक्रिय हैं। सूरत और बारडोली शहरों में कुछ दिन पूर्व ही ट्रकों से शराब जब्त की गई है। संघ प्रदेश दमण और दानह से शराब तस्करी बड़ी मात्रा में होती है।
रविवार को पुलिस ने नवसारी जिले में 2.84 लाख की शराब के साथ तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने दोनों मामलों में आठ लोगों को वांछित दिखाया है।

कार से 4800 बोतल शराब बरामद

एलसीबी ने चिखली हाईवे पर एक कार से 4800 बोतल शराब बरामद की। इसकी कीमत 2.40 लाख रुपए बताई गई है। कार चालक सद्दाम इब्राहिम शेख निवासी अमर अपार्टमेन्ट, खारीवाड़ नानी दमण और मयूर महेश हलपति निवासी ब्राह्मण फलिया नानी दमण को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में दोनों ने बताया कि पारड़ी निवासी हर्षित थापा ने उक्त शराब सूरत के परवत पाटिया में बाबू उर्फ हरिओम एवं कपिल के पास पहुंचाने को भेजा था। एलसीबी ने चिखली पुलिस को मामला सौंप दिया है। गिरफ्तार दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर तीनों को वांटेड दिखाया गया है। इस मामले में पुलिस ने शराब और कार समेत 5.90 लाख का मुद्दामाल जब्त किया है।
दूसरे मामले में हाईवे पर चिखली पुलिस ने होन्ड गांव के समीप कार से 112 बोतल शराब जब्त की। इस मामले में राकेश मोदी को निवासी सांईधाम सोसायटी सिलवासा, मूल निवासी भरुच को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में उसने बताया कि सिलवासा के जितल वाइन शॉप, यश वाइन शॉप, डिवाइन वाइन शॉप और लीकर वाइन शॉप से यह शराब खरीदी गई थी, जिसे भरुच के शुभम बाबू मोदी को पहुंचाना था। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर चारों वाइन शॉप के संचालकों व सुभम मोदी को वांटेड दिखाया है। पुलिस ने कार और शराब समेत कुल 2.46 लाख का माल सामान जब्त किया है।

वांछित बूटलेगर सचिन और उसका साथी गिरफ्तार
. वलसाड जिले में कुख्यात बूटलेगर गत रोज आखिरकार ग्रामीण थाना पुलिस की गिरफ्त में आ ही गया। पुलिस ने 13 लाख की शराब भी जब्त कर ली। ग्रामीण पुलिस के अनुसार सिलवासा से शराब की हेराफेरी करने वाला सचिन ग्रामीण थाने में, पारडी थाना और वापी थाना में लम्बे समय से शराब के मामले में वांछित था। ग्रामीण थाने के पीएसआई एके देसाई और पीपी ब्रह्मभट्ट को सूचना मिली थी कि सचिन अपने साथियों के साथ महाराष्ट्र के पालघर में कहीं छिपा है। पुलिस गत रोज पालघर से सचिन ठाकर और उसके साथी गुलाब को गिरफ्तार करके वलसाड ले आई और पूछताछ की। उसका एक टैम्पो शनिवार को भी शराब लेकर निकलने का कबूल करने पर पुलिस ने हाईवे से पकड़ लिया। उसमें से 5 लाख, 71 हजार की शराब बरामद हुई। सचिन तथा उसके साथी को रिमाण्ड पर लेने के लिए कोर्ट में पेश करने की कार्रवाई की जा रही है। बूटलेगर सचिन बूटलेगर की बड़े अधिकारियों के साथ सांठगांठ बताई जाती है। शराब की गाड़ी पकडऩे वाले पुलिसकर्मियों का तबादला और सस्पेंड होना आमबात है। वलसाड से करीब 7 पुलिसकर्मियों के तबादलों में उसका नाम शामिल बताया जाता है।

Sunil Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned