ट्रोमा के बाहर स्ट्रेचर पर 30 मिनट शव पड़ा रहा लावारिस

- वार्ड से शव पोस्टमार्टम रूम में रखने आया और पुलिस को सूचना देने शव छोड़कर चला गया

By: Sanjeev Kumar Singh

Published: 18 Dec 2020, 10:01 PM IST

सूरत.

कोरोना महामारी के दौर में न्यू सिविल अस्पताल के ट्रोमा सेंटर के बाहर गुरुवार सुबह तीस मिनट तक एक शव सफेद कपड़े में लपेट कर स्ट्रेचर पर लावारिस पड़ा रहा। इससे कुछ समय के लिए लोगों में घबराहट हो गई। बाद में किसी ने ट्रोमा सेंटर के सीएमओ को मामले की जानकारी दी। तब डॉक्टर ने शव को दूसरे जगह रखने के निर्देश दिए। वार्ड से शव लेकर आए और वहां छोडक़र पुलिस चौकी गया वार्ड बॉय लौटा तो मौके पर स्ट्रेचर पर शव नहीं देखकर सकते में आ गया।

न्यू सिविल अस्पताल के ट्रोमा सेंटर के बाहर गुरुवार सुबह शव को काफी देर तक पड़ा देख मौजूद लोगों ने कुछ देर राह देखी बाद में ट्रोमा सेंटर के सीएमओ ऑफिस में जानकारी दी। इसके बाद पोस्टमार्टम ड्यूटी पर तैनात डॉ. ओमकार चौधरी आए और शव को ट्रोमा सेंटर में रखने के निर्देश दिए। कुछ देर बाद वह वार्डबॉय पहुंचा, जो शव को स्ट्रेचर पर छोडक़र गया था। शव को वहां नहीं पाकर उसके होश उड़ गए। कुछ देर बाद उसे शव को अंदर रखे जाने की जानकारी दी। इसके बाद खटोदरा पुलिस चौकी के स्टाफ ने शव की पहचान कर पोस्टमार्टम रूम में भिजवा दिया। इस दौरान करीब 30 मिनट तक शव खुले में स्ट्रेचर पर पड़ा रहा।

पुलिस ने मृतक का नाम ईश्वर गणेश गामित (30) बताया है। उसे 108 एम्बुलेंस कर्मचारी बारडोली बस स्टेशन के सामने गैलेक्सी शॉपिंग सेंटर के नजदीक से कुछ दिनों पहले घायल अवस्था में अस्पताल लेकर आए थे। उसके परिजन अस्पताल में उससे मिलने आए, लेकिन बाद में उसे अकेला छोड़ कर चले गए थे। इलाज के दौरान गुरुवार सुबह उसकी मौत हो गई।

Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned