Surat News : एक और फ्रंट फाइटर मेल नर्स की कोरोना से मौत

- दो बार अस्पताल में भर्ती होने के बाद हुए स्वस्थ, फिर से संक्रमण दिखा और रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी

By: Sanjeev Kumar Singh

Published: 24 Jul 2020, 10:38 PM IST

सूरत.

शहर में कोरोना वायरस पॉजिटिव मरीजों की जान बचाने के लिए फ्रंट फाइटर डॉक्टर व नर्सिंग स्टाफ दिन-रात न्यू सिविल अस्पताल के कोविड-19 हॉस्पिटल में सेवा दे रहे हैं। मरीजों की संख्या बढऩे पर अब फ्रंट फाइटर स्वयं भी संक्रमित हो रहे हैं। शहर के प्रथम कोरोना फाइटर की सोमवार को हुई मृत्यु के दो दिन बाद ही एक और मेल नर्स की कोरोना वायरस के कारण गुरुवार को मौत हो गई। तीन दिन में दो नर्सिंग स्टाफ की मौत से मेडिकल स्टाफ में शोक का माहौल है। नर्सिंग परिवार के साथ ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी कोरोना फाइटर्स को सलामी देने अस्पताल पहुंचे।

न्यू सिविल अस्पताल परिसर में नर्सिंग स्टाफ क्वाटर्स निवासी सुनील प्रभुदास निमावत (46) पिछले पांच वर्ष से मेल नर्स के तौर पर कार्यरत थे। कोरोना वायरस महामारी के दौरान उनकी ड्यूटी कोविड-19 हॉस्पिटल में लगाई गई थी। कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज करते हुए वह खुद कब संक्रमित हो गए इसका पता ही नहीं चला। बाद में उनको बुखार, सर्दी-खांसी समेत दूसरे लक्षण दिखाई देना शुरू हो गया। उन्होंने न्यू सिविल अस्पताल में अपना इलाज शुरू करवाया। लेकिन उनकी प्रथम रिपोर्ट निगेटिव आई थी। बाद में घर जाने के चार दिन बाद फिर से उनकी तबीयत खराब हो गई। परिजनों ने उनको निजी यूनिक अस्पताल में भर्ती कराया। नौ दिन उपचार लेने के बाद उनकी तबीयत ठीक हो गई। तीन दिन पहले फिर से उनकी तबीयत बिगड़ गई। परिजन उन्हें निजी अस्पताल लेकर गए जहां उनकी कोरोना वायरस रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इलाज के दौरान उनकी तबीयत गंभीर हो गई और गुरुवार सुबह उन्होंने दम तोड़ दिया। मृतक सुनील को एक पुत्री नंदनी और पुत्र ओम है। नंदनी बारहवीं पास करने के बाद फिलिपिन्स में मेडिकल की पढ़ाई कर रही है। वहीं ओम ने इसी साल बारहवीं की परीक्षा पास की है। उनके पिता प्रभुदास निमावत जामनगर में मेडिकल ऑफिस के पद से निवृत्त हुए है।

घटना की सूचना मिलने पर गुजरात नर्सिंग काउंसिल के उप प्रमुख इकबाल कड़ीवाला, नर्सिंग एसोसिएशन के सचिव किरण दामोडिया, दिनेश अग्रवाल समेत पूरा नर्सिंग परिवार कोरोना फाइटर्स मेल नर्स को सलामी देने निजी अस्पताल पहुंच गया। ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी डॉ. एम. के. वाडेल भी कोरोना फाइटर्स को सलामी देने पहुंचे। गौरतलब है कि, सोमवार को नवसारी गणदेवी निवासी और न्यू सिविल अस्पताल में नर्सिंग स्टाफ के तौर पर कार्यरत रश्मिता पटेल (56) की कोरोना वायरस के कारण मृत्यु हुई थी। इसके दो दिन बाद ही गुरुवार को मेल नर्स सुनील की मौत से मेडिकल स्टाफ में शोक का माहौल है।


सूरत में 53, गुजरात में 300 नर्स कोरोना पॉजिटिव

शहर में पिछले चार माह से कोरोना वायरस के मरीज मिल रहे है। शहर और ग्रामिण क्षेत्र में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 11 हजार को पार कर गई है। वहीं पांच सौ के करीब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मृत्यु हुई है। इसमें कोरोना मरीजों का इलाज करने वाले फ्रंट फाइटर की संख्या भी बहुत अधिक है। इसमें डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ, पुलिस और मनपा के कर्मचारी शामिल है। अब तक न्यू सिविल अस्पताल के 53 से अधिक नर्सिंग स्टाफ कोरोना पॉजिटिव हुए है। इसमें दो मेट्रन, छह हेडनर्स समेत अन्य नर्सिंग स्टाफ शामिल है। वहीं कोरोना वरियर्स दो नर्सिंग स्टाफ की मौत हुई है।

Corona virus Corona Virus treatment
Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned