scriptArguments on sentence completed in Pandesara's murder case, adjourned | Surat/ पांडेसरा में माता - पुत्री की हत्या के मामले में सजा पर दलीलें पूरी, सजा पर 7 मार्च तक फैसला टला | Patrika News

Surat/ पांडेसरा में माता - पुत्री की हत्या के मामले में सजा पर दलीलें पूरी, सजा पर 7 मार्च तक फैसला टला

बच्ची का शव मिला तो उसकी आंखों के आंसू तक सुख चुके थे, आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा की अभियोजन पक्ष की मांग

सूरत

Published: March 05, 2022 08:36:37 pm

सूरत. महिला और उसकी पुत्री से बलात्कार करने के बाद हत्या कर शवों को पांडेसरा क्षेत्र में अलग-अलग जगह पर झाडिय़ों में फेंकने के बहुचर्चित मामले में सेशन कोर्ट शनिवार को आरोपियों की सजा पर दोनों पक्षों ने दलीलें पेश की। बचाव पक्ष में जहां आरोपियों के प्रति दया दिखाने की मांग की तो अभियोजन पक्ष ने कड़ी से कड़ी सजा सुनाने की कोर्ट से मांग की।
Arguments on sentence completed in Pandesara's murder case, adjourned
चार साल पुराने मामले सेशन कोर्ट ने शुक्रवार को आरोपी हर्षसहाय गुर्जर और उसके साथी हरिओम गुर्जर को दोषी करार देते हुए सजा पर फैसला सुरक्षित रख लिया था। शनिवार सुबह दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। इसके बाद सजा पर दलीलें शुरू हुई। बचाव पक्ष के अधिवक्ता ने दलीलें पेश करते हुए कहा कि आरोपी की उम्र कम है और पत्नी और बच्चे तथा मां की जिम्मेदारी उनके सिर पर हैं, ऐसे में आरोपियों के प्रति दया दिखाकर कम से कम सजा सुनाई जाए। वहीं, अभियोजन पक्ष की ओर से विशेष लोकअभियोजक पी. एन.परमार ने अपनी दलीलों में कहा कि मां - बेटी आरोपी के आश्रित थी। इसके बावजूद बच्ची के सामने उसकी मां की हत्या कर दी और बाद में दस दिनों तक बच्ची पर यौन अत्याचार करने के साथ उसे इतना प्रताड़ित किया की उसकी आंखों के आंसू तक सुख गए और उसने दम तोड दिया। आरोपियों का कृत्य हैवनियतभरा है ऐसे में कड़ी से कड़ी सजा सुनानी चाहिए। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद कोर्ट ने 7 मार्च तक अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। गौरतलब है कि पांडेसरा के सांई फकीरा क्रिकेट ग्राउंड के पास 6 अप्रैल, 2018 को झाडिय़ों से एक 11 साल की बच्ची का शव बरामद हुआ था। बच्ची से बलात्कार के बाद उसकी हत्या करने का खुलासा हुआ था। उसी दिन सचिन मगदल्ला हाइवे रोड पर एक महिला का शव पांडेसरा पुलिस को बरामद हुआ था। महिला की भी किसी ने हत्या की होने का खुलासा हुआ था। दोनों ही मामलों को लेकर पुलिस ने अलग-अलग मामले दर्ज कर जांच शुरू की थी। दोनों ही मामलें एक-दूसरे से जुड़े होने की आशंका पर पुलिस ने शवों का डीएनए करवाया तो उनका डीएनए मैच हो गया और मृतक रिश्ते में मां-बेटी होने का खुलासा हुआ। इसके बाद आरोपियों तक पहुंचना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती थी। आखिरकार पुलिस आरोपियों तक पहुंचने में कामियाब हुई थी। पुलिस के मुताबिक आरोपी हर्षसहाय गुर्जर मां-बेटी को राजस्थान से भगा कर लाया था। पहले उसने दोनों को परवत पाटिया क्षेत्र में रखा था। बाद में कामरेज क्षेत्र में एक निर्माणाधिन इमारत के फ्लैट में उन्हें रखा। उसके बाद उसने महिला की बेरहमी से पिटाई की तो बच्ची रोते हुए बहार निकली और अन्य लोगों बताया। इसके बाद हर्षसहाय मां-बेटी को कार में बैठाकर वहां से रवाना हुआ और बीच रास्ते में उसने कार में ही महिला की हत्या कर दी और शव हाइवे किनारे फेंक दिया था। इसके बाद बच्ची को दस दिन तक उसने अपने साथ रखा और उसके साथ भी बेरहमी से मारपीट की और यौन अत्याचार भी किया। प्रताडऩा से बच्ची की मौत हो गई तो उसका शव भी पांडेसरा क्षेत्र में झाडिय़ों में फेंककर फरार हो गया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.