CHEATING / FRAUD : रोज औसत दस शिकायतें मिल रही हैं धोखाधड़ी और जालसाजी की

 

- कपड़ा बाजार स्थित सलाबतपुरा थाने में तीन और मामले दर्ज

By: Dinesh M Trivedi

Published: 12 Jul 2021, 10:22 AM IST

दिनेश एम. त्रिवेदी
सूरत. कोरोना संक्रमण की दो लहरों के चलते लगे लॉकडाउन और मिनी लॉकडाउन के बाद रिंग रोड स्थित कपड़ा बाजार में जैसे- जैसे व्यापारिक गतिविधियां जोर पकड़ रही हैं। वैसे ही यहां सलाबतपुरा थाने में व्यापारियों द्वारा की जाने वाले धोखाधड़ी व जालसाजी की शिकायतें भी जोर पकड़ रही है। पिछले कुछ समय से सलाबतपुरा पुलिस को प्रतिदिन औसतन दस शिकायतें मिल रही हैं।

जिनमें से अधिकतर दीवानी मामलों से जुड़ी होती हैं तो कुछ व्यापारियों में समझौता भी हो जाता हैं। लेकिन इनमें से एक दो शिकायतें ऐसी होती है जिनमें पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जाती हैं। मिनी लॉकडाउन के बाद तीन -चार दिनों में एक मामले में प्राथमिकी दर्ज होती थी, लेकिन पिछले कुछ दिनों से प्रतिदिन दो-दो व तीन-तीन मामले दर्ज हो रहे हैं। शुक्रवार को दो, शनिवार को तीन और रविवार को भी तीन मामले सामने आए हैं।

CHEATING / FRAUD :  रोज औसत दस शिकायतें मिल रही हैं धोखाधड़ी और जालसाजी की

जिनमें अलग अलग शहरों के चार जनों ने एक व्यापारी से प्रोटीन पाउडर खरीदा और भुगतान नहीं कर किया। वहीं, एक अन्य मामले में दो पार्टियों ने अलग अलग व्यापारियों से आठ लाख रुपए का माल खरीदाकर धोखा किया।वहीं एक महिला व्यापारी के साथ उसके ही परिजनों ने जालसाजी कर उसे बैंक में लोन में गांरटर बना दिया।

प्रोटीन पाउडर हजम कर चार जनों ने प्रबंधक को दी धमकी !

जानकारी के अनुसार हरियाणा फरीदाबाद रामा स्वीट्स के संचालक निलेश द्विवेदी, महाराष्ट्र के पुणे निवासी सुजीत पुघियातिल, कोलकाता स्थित चंडी अर्थ मूवर्स के राकेश त्रिपाठी व पुणे स्थित एसके डिस्ट्रीब्यूटर्स के संचालकों ने मिल कर घोड़दौड़ रोड संकल्प सोसायटी निवासी साकेत वैद्य के साथ धोखाधड़ी की।

नियोजित साजिश के तहत उन्होंने एक-दूसरे के रेफरेंस से उधना दरवाजा वर्ल्ड ट्रेड सेन्टर स्थित एक फर्म बतौर प्रबंधक काम करने वाले साकेत से संपर्क किया। उन्होंने जून 2019 से अलग अलग समय पर ऑर्डर देकर कुल 15 लाख 61 हजार 855 रुपए का डाइट सप्लिमेंट प्रोटीन पाउडर उधार में लिया। आरोप है कि उसका भुगतान नहीं किया औऱ पैमेंट मांगने पर चारों ने अपशब्द कहे और धमकी दी।

कोलकाता के दो जनों ने सूरत व्यापारियों से की धोखाधड़ी

इसी तरह, दूसरे मामले में कोलकाता स्थित सुनील चांडक व अमरेन्द्रसिंह ने मिलकर रिंग रोड स्थित अंबाजी मार्केट के व्यापारी महेन्द्र वर्मा व अन्य व्यापारी नारायण अग्रवाल के साथ धोखाधड़ी की। 2017 में उन्होंने दोनों का संपर्क कर अलग अलग बिलों से 8.23 लाख रुपए का कपड़ा उधार लिया। आरोप है कि उसका भुगतान नहीं किया, बल्कि धमकियां दी। लंबे समय तक व्यापारिक स्तर पर प्रयास करने के बाद गोडादरा श्याम सृष्टी रेजिडेंसी निवासी महेन्द्र वर्मा ने प्राथमिकी दर्ज करवाई।

महिला रिश्तेदार के फर्जी हस्ताक्षर कर गारंटर बना दिया :

तीसरे मामले में घोड़दौड़ रोड रत्न मिलन अपार्टमेंट निवासी अनिता नांगलिया ने अपने रिश्तेदारों व दो बैंककर्मियों पर जालसाजी का आरोप लगाया है। जिसमें आरोप लगाया है कि उन्होंने स्वीफ्ट फेब्रिक्स प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक पद से उन्होंने 2011 में त्याग पत्र दे दिया था।

उसके बाद कंपनी के लोन में कंपनी के कर्ताधर्ता उनके रिश्तेदारों मनीष नागलिया, मुकेश नागलिया, स्व. महेश नागलिया, स्व. चेतन नागलिया ने बैंक ऑफ बडौदा के अधिकारी राजीव प्रधान व एवी नंदुरकर की मदद से उन्हें फर्जी हस्ताक्षर कर गारंटर बनाया। गलत तरीके से लोन हासिल कर उनसका दुरुपयोग किया। इस संबंध में पीडिता ने कोर्ट में याचिका दायर की थी। कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की।

दस शिकायतें मिलती हैं :

जब कपड़ा बाजार में व्यापारिक गतिविधियां चरम पर होती हैं तब अधिक शिकायतें मिलती हैं। उस लिहाज से तो कम ही शिकायतें मिल रही हैं लेकिन मीनी लॉकडाउन के बाद से शिकायतों की संख्या बढ़ी हैं। फिलहाल औसत दस शिकायतें प्रतिदिन मिल रही हैं।

- एम.वी.किकाणी (थाना प्रभारी, सलाबतपुरा)

Show More
Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned