बारडोली के दोनों कॉलेजों में एबीवीपी ने मारी बाजी

बारडोली के दोनों कॉलेजों में एबीवीपी ने मारी बाजी
surat

Mukesh Kumar Sharma | Publish: Oct, 09 2016 11:27:00 PM (IST) Surat, Gujarat, India

वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय के विभिन्न कॉलेजों में शनिवार को छात्रसंघ का चुनाव हुआ। इसमें

बारडोली।वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय के विभिन्न कॉलेजों में शनिवार को छात्रसंघ का चुनाव हुआ। इसमें बारडोली की दो कॉलेजों में एबीवीपी ने कब्जा जमाया। वहीं तापी जिले के व्यारा आट्र्स एंड कॉमर्स कॉलेज में एनएसयूआई ने बाजी मारी। सूरत जिले के वांकल की सरकारी विनयन कॉलेज में पहली बार हुए चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवार को निर्विरोध जीएस के तौर पर चुना गया।

बारडोली की पाटीदार जिन साइंस कॉलेज में शनिवार को सबसे पहले 11 सीटों पर वर्ग प्रतिनिधि का चुनाव हुआ। जिसमें 4 सीटों पर निर्विरोध वर्ग प्रतिनिधि चुने गए। शेष 7 सीटों पर हुए चुनाव में सभी उम्मीदवारों को एबीवीपी नेताओं ने समर्थक होने का दावा किया। बाद में हुए छात्रसंघ के प्रतिनिधि के चुनाव में सर्वसम्मति से सौरव मैसूरिया (एसवाई बीएससी) को निर्विरोध जीएस के रूप में चुना गया। एबीवीपी ने कौशिक रबारी को जीएस के तौर पर प्रोजेक्ट किया और उनके बेनर भी जगह-जगह लगाए गए थे। एनएसयूआई ने हार्दिक सिंह चौहान को जीएस के लिए नामांकन करवाया था।

वर्ग प्रतिनिधि के चुनाव के होने वाले जीएस के चुनाव के सभी समीकरण बदल गए और हार के डर से एबीवीपी ने अंतिम क्षण में जो प्रोजेक्ट किया उम्मीदवार को बदल कर महिला उम्मीदवार कृष्णाकुमारी परमार का नामांकन दाखिल किया। एबीवीपी की कृष्णा कुमारी और एनएसयूआई के हार्दिक सिंह के बीच टक्कर थी। मतदान के बाद हुई गणना में 44 मत में से हार्दिक सिंह को 14 तथा कृष्णा कुमारी को 28 मत मिलने से उसे जीएस घोषित किया गया, जबकि दो मत रद्द हुए।  बारडोली कॉलेज के इतिहास में पहली महिला जीएस बनी हैं। दोनों कॉलेज के जीएस ने शहर में विजय यात्रा निकाली।


उधर, वांकल की सरकारी विनयन कॉलेज में पहली बार छात्रसंघ चुनाव हुए। वर्ग प्रतिनिधि की 14 सीटों मे से 8 सीटों पर निर्विरोध प्रतिनिधि चुने गए। एक सीट पर दोनों उम्मीदवार के नामांकन रद्द होने से सर्वसम्मति से एक छात्र को चुना गया, वहीं 6 सीटों पर चुनाव हुआ। छात्रसंघ चुनाव में जीएस के दावेदार एनएसयूआई के राज ठकोर, एबीवीपी के योगेश वसावा और निर्दलीय उम्मीदवार आकाश गामित हार गए।

वर्ग प्रतिनिधि के तौर पर जीते 14 उम्मीदवारों की बैठक बुलाई गई, जिसमें सर्वसम्मति से साहिल वसावा को जीएस के तौर पर चुना गया। तापी जिले के व्यारा की आट्र्स एंड कॉमर्स कॉलेज में एनएसयूआई ने लगातार तीसरे बार अपना दबदबा कायम रखा। वर्ग प्रतिनिधि के कुल 40 सीटों पर चुनाव के बाद जीएस के लिए चुनाव हुआ। इसमें एनएसयूआई के अमित गामित को 40 में से 21 मत मिले जबकि एबीवीपी के विशाल गामित को 19 मत मिलें।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned