सावधान...बगैर काम कॉलेज में किया प्रवेश तो हिरासत में ले सकती है पुलिस.!

सावधान...बगैर काम कॉलेज में किया प्रवेश तो हिरासत में ले सकती है पुलिस.!
सावधान...बगैर काम कॉलेज में किया प्रवेश तो हिरासत में ले सकती है पुलिस.!

Divyesh Kumar Sondarva | Updated: 09 Oct 2019, 08:16:53 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

- छात्रसंघ चुनाव को लेकर कॉलेजों में बगैर काम बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर प्रतिबंध
- प्रशासन और विद्यार्थियों की सुरक्षा के लिए पुलिस ने जारी की अधिसूचना

सूरत.

वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय (वीएनएसजीयू) संबद्ध महाविद्यालयों में छात्रसंघ चुनावों को लेकर प्रशासन और विद्यार्थियों की सुरक्षा के लिए पुलिस ने अधिसूचना जारी की है। वीएनएसजीयू प्राचार्य संघ ने पुलिस कमिश्नर से सुरक्षा बंदोबस्त की मांग की थी।

VNSGU : कुलपति ने शिक्षा विभाग की अनुमति के बगैर की थी नियुक्ति..!

वीएनएसजीयू संबद्ध महाविद्यालयों में 11 अक्टूबर को छात्रसंघ चुनाव होंगे। दो साल पहले कुलपति ने सभी महाविद्यालयों के प्राचार्यों से छात्रसंघ चुनाव पर राय मांगी थी। प्राचार्यों ने महाविद्यालयों की सुरक्षा का हवाला देकर चुनाव नहीं करवाने की राय दी थी। इसके कारण चुनाव दो साल बाद आयोजित किए गए थे। इस बार प्रवेश प्रक्रिया पूर्ण होते ही छात्र संगठनों ने चुनाव की मांग शुरू कर दी थी। चुनाव को लेकर विवाद न हो, इसलिए कुलपति ने 11 अक्टूबर को चुनाव की घोषणा कर दी। परिपत्र जारी कर सभी महाविद्यालयों की सूचित किया गया। इसके बाद वीएनएसजीयू प्राचार्य संघ ने पुलिस कमिश्नर को चुनाव को लेकर ज्ञापन सौंपा। प्राचार्य संघ का कहना है कि चुनाव के दौरान महाविद्यालयों की सुरक्षा खतरे में पड़ जाती है।

VNSGU : वीएनएसजीयू की नई विकेंद्रित प्रवेश प्रणाली बन गई सिरदर्द..?

प्राचार्य, कर्मचारियों और विद्यार्थियों पर खतरा मंडराता रहता है। समाजकंटक महाविद्यालय परिसर में प्रवेश करते हैं और धमकाते हैं। शांतिपूर्ण चुनाव के लिए पुलिस सुरक्षा की मांग की गई। पुलिस ने प्रचार्यों की मांग को ध्यान में रख कर अधिसूचना जारी की है। इसमें बाहर के किसी भी व्यक्ति को बिना काम कॉलेज में प्रवेश करने पर रोक लगा दी गई है। चुनाव के दौरान मोबाइल पर रोक लगाई गई है।

VNSGU : लापरवाही वीएनएसजीयू की, कीमत चूकानी पड़ रही है विद्यार्थियों को..?

आदेश का पालन नहीं होने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने शहर के 33 महाविद्यालयों की सूची बनाई है। इन पर चुनाव के दौरान पुलिस नजर रखेगी। चुनाव के दौरान विद्यार्थियों को धमकाने और उम्मीदवारों को उठा ले जाने के कई मामले विगत में हो चुके हैं। चुनाव के दौरान महाविद्यालयों के प्राचार्यों को धमकाने की शिकायत भी मिलती रही हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned