छह माह में दिखने लग जाएंगे बेहतर परिणाम

कपड़ा बाजार में भी जयपुर से आए अधिकारी व्यापारियों से मिले

सूरत. राजस्थान सरकार के एनआरआई डिपार्टमेंट गठित राजस्थान फाउंडेशन सूरत चैप्टर की बैठक बुधवार सुबह डुमस रोड पर वैलेंटाइन मल्टीप्लेक्स परिसर में आयोजित की गई। बैठक में राजस्थान फाउंडेशन के आयुक्त धीरज श्रीवास्तव ने कई वर्ष पहले गठित सूरत चैप्टर के पदाधिकारियों को सुना और बाद में नए सिरे से शाखा गठन समेत छह माह में बेहतर परिणाम की बात कही। वहीं, शाम को कपड़ा बाजार में भी राजस्थान फाउंडेशन के अधिकारी कपड़ा व्यापारियों से मिले।
राजस्थान फाउंडेशन के आयुक्त धीरज श्रीवास्तव मंगलवार को सिटीलाइट के महाराजा अग्रसेन भवन में प्रवासी राजस्थानी उद्यमियों के साथ मुलाकात के बाद दूसरे दिन बुधवार को सूरत में राजस्थान फाउंडेशन सूरत चैप्टर के पदाधिकारियों व अन्य लोगों के साथ बैठक आयोजित की। सुबह डुमस रोड पर वैलेंटाइन मल्टीप्लेक्स परिसर में आयोजित बैठक में सूरत चैप्टर के अध्यक्ष गजानंद मालपानी, महासचिव राजेंद्र सारड़ा, रामगोपाल मुंदड़ा समेत अन्य पदाधिकारियों ने पूर्व में आई समस्याओं के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि राजस्थान में पांच-पांच साल में सरकार बदल जाती है और ऐसी स्थिति में एक सरकार में जीवंत हुई योजना दूसरी सरकार का कार्यकाल शुरू होते ही दम तोड़ देती है। इस मौके पर मौजूद अन्य लोगों ने बताया कि राजस्थान सरकार राजस्थान फाउंडेशन के माध्यम से सूरत समेत देश के विभिन्न शहरों में बसे प्रवासी राजस्थानियों के लिए कुछ करती है तो अच्छी बात है। बाद में आयुक्त श्रीवास्तव ने बताया कि राजस्थान फाउंडेशन सूरत समेत देश के सभी नौ शहरों में गठित शाखा पदाधिकारियों व वहां के प्रवासी राजस्थानियों के साथ बारी-बारी से बैठक कर बातचीत कर रही है और जरूरतों को समझ रही है। छह माह के भीतर बड़े और सुखद परिवर्तन देखने को मिलेंगे। सूरत समेत सभी शहरों में शाखा के विस्तार व नए सिरे से गठन की तैयारियां भी स्थानीय स्तर पर सहयोग के माध्यम से की जाएगी। बैठक के दौरान अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन के रमेश लोहिया, राजेश भारुका, इंद्रा अग्रवाल, महावीर इंटरनेशनल के संतोक नाहर, गोपाल शेखावत, सुरेश काबरा, मुरारीलाल सुरेका, श्यामलाल जैन, महेश बियानी, गजानंद राठी, संजीत बगडिय़ा समेत अन्य कई लोग मौजूद थे।


कपड़ा व्यापारियों से मिले


वहीं, शाम को राजस्थान फाउंडेशन के आयुक्त धीरज श्रीवास्तव कपड़ा बाजार में कपड़ा व्यापारियों के बीच भी पहुंचे। इस दौरान उन्होंने प्रवासी राजस्थानी कपड़ा व्यापारियों को बताया कि राजस्थान सरकार ने 2001 में परदेस में बसे प्रवासी राजस्थानियों को राजस्थान से जोडक़र रखने के उद्देश्य से राजस्थान फाउंडेशन का गठन किया था। यह राजस्थान सरकार की योजनाओं व विकास, निवेश-लाभ की जानकारी, सामाजिक सरोकार आदि क्षेत्र में भावनाओं का मंच है। इस दौरान प्रवासी राजस्थानी कपड़ा व्यापारियों ने बताया कि यहां पर प्रवासी राजस्थानियों के तीन सौ से ज्यादा संगठन सक्रिय है और उन्हें एक छत के नीचे लाने के लिए राजस्थान भवन बनाने की दिशा में राजस्थान सरकार को सकारात्मक कदम उठाने चाहिए। राजस्थान दिवस पर 30 मार्च को बड़े समारोह का आयोजन भी राजस्थान फाउंडेशन के सहयोग से संभव है। इस मौके पर फोस्टा के मनोज अग्रवाल, चम्पालाल बोथरा, गोकुल बजाज, श्रीकृष्ण बंका, फूलचंद राठौड़, विश्वनाथ पचेरिया समेत अन्य कई प्रवासी राजस्थानी मौजूद थे।

Dinesh Bhardwaj
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned