वराछा में बीआरटीएस रूट डेडिकेटिड नहीं

वराछा में बीआरटीएस रूट डेडिकेटिड नहीं

Mukesh Sharma | Publish: Jul, 13 2018 09:41:31 PM (IST) Surat, Gujarat, India

सूरत महानगर पालिका की जांच रिपोर्ट के मुताबिक वराछा में बीआरटीएस रूट को लोगों ने डेडिकेटिड नहीं छोड़ा है। इस रूट पर अक्सर दूसरे वाहन...

सूरत।सूरत महानगर पालिका की जांच रिपोर्ट के मुताबिक वराछा में बीआरटीएस रूट को लोगों ने डेडिकेटिड नहीं छोड़ा है। इस रूट पर अक्सर दूसरे वाहन घुस आते हैं, जो आए दिन दुर्घटना की वजह बनते हैं।
बीआरटीएस रूट्स पर बढ़ रहे हादसों के मद्देनजर मनपा प्रशासन ने पूरे शहर में बीआरटीएस रूट्स का सर्वे कराया था।

बीते एक हफ्ते से मनपा टीम ने लोगों के ट्रैफिक पैटर्न का अध्ययन किया तो चौंकाने वाली बात सामने आई। रिपोर्ट के मुताबिक पूरा शहर बीआरटीएस के लिए बने डेडिकेटिड रूट में वाहन नहीं ले जाता, लेकिन वराछा क्षेत्र में वाहन धड़ल्ले से इस रूट पर दौड़ते हैं। यही नहीं, कई जगह तो यह वाहन बीआरटीएस बसों से रेस लगाते दिखते हैं तो कई जगह पर लोग डेडिकेटिड रूट पर वाहन खड़े कर खरीदारी के लिए निकल जाते हैं।

इससे बसों की स्पीड गड़बड़ाती है, जिसे रिकवर करने के लिए चालक बस को भगाता है और यह स्पीड हादसों की वजह बनती है। मनपा के असिसटेंट कमिश्नर कमलेश नायक के मुताबिक यह रिपोर्ट अधिकारियों को सौंप दी गई है।

पुलिस का भी ध्यान नहीं

बीआरटीएस डेडिकेटिड रूट्स में दौड़ रहे इन वाहनों पर कार्रवाई का अधिकार शहर पुलिस के पास है। शहर पुलिस ने इसके लिए बाकायदा नोटिफिकेशन भी जारी किया है, जिसमें साफ है कि बीआरटीएस के डेडिकेटिड रूट्स में अन्य वाहन न दौड़ाए जाएं। इस पर अमल कराने की जिम्मेदारी भी पुलिस प्रशासन की है। मनपा प्रशासन लोगों में इसके प्रति जागरुकता बढ़ाने का काम ही कर सकता है।

सिलिंडर फटने से महिला की मौत

सचिन क्षेत्र में खाना बनाते हुए गैस सिलिंडर फटने से झुलसी महिला की मंगलवार सुबह मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि सचिन सांई सिद्धि रॉ हाउस निवासी रिक्शा चालक बिरु बिजेन्द्र पाल की पत्नी शबनम (२६) 27 मई को गैस चूल्हे पर खाना बनाते समय सिलिंडर फटने से गंभीर रूप से झुलस गई। उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां मंगलवार सुबह उसकी मौत
हो गई।

Ad Block is Banned