बिना बंटवारे की पुश्तैनी जमीन पर मालिकों को धोखे में रख बिल्डिंग बना दी !


- क्राइम ब्रांच ने मामला दर्ज कर की कार्रवाई

By: Dinesh M Trivedi

Updated: 15 Sep 2021, 10:23 AM IST

सूरत. मजूरा-खटोदरा क्षेत्र में बिना बंटवारे की पुश्तैनी जमीन के मालिकों की धोखे में रख कर चार मंजिला इमारत बनाने के मामले में क्राइम ब्रांच ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू की हैं।

पुलिस के मुताबिक पार्ले प्वाइंट सोमनाथ सोसायटी निवासी आरोपी अजय सूरतवाला ने भटार अशोका पेवेलियन निवासी राजेश पुत्र रमण देसाई की पुश्तैनी जमीन के हिस्से पर अवैध रूप से कब्जा कर वहां चार मंजिला व्यवसायिक इमारत बना दी।

इमारत में दुकानें बेच दी या किराए पर दे दी। उनके परिवार की पुश्तैनी जमीन का एक हिस्सा पूर्व में खरीदा था। लेकिन बाद में चचेरे भाइयों के बीच जिस हिस्से का बंटवारा नहीं हुआ था वह भी हथिया लिया।

जमीन का काम होने के बहाने उनके व उनके चेचरे भाइयों योगेश व रमेश के बिना बताए कागजों पर हस्ताक्षर करवा लिए। फिर कुछ जगह फर्जी हस्ताक्षर करवा कर व्यवसायिक इमारत का प्लान पास करवाया और बिल्डिंग बना दी।

पीडि़त राजेश ने बताया कि इस बारे में पता चलने पर उन्होंने पुलिस में लिखित शिकायत दी। जिस पर लंबे समय बाद में उन्होंने फिर पुलिस आयुक्त अजय तोमर से गुहार लगाई। इस पर क्राइम ब्रांच ने सोमवार को मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू की।
---------------

दस मोबाइल फोन के साथ ऑटो रिक्शा गैंग के तीन शातिर गिरफ्तार

सूरत. ऑटो रिक्शा में पैसेन्जरों की जेब से मोबाइल उड़ाने की चार घटनाओं का राज फाश कर क्राइम ब्रांच ने तीन शातिरों को गिरफ्तार किया हैं। क्राइम ब्रांच ने उनके कब्जे से चोरी के दस मोबाइल फोन बरामद किए है।

पुलिस के मुताबिक ङ्क्षडडोली भेस्तान आवास निवासी इरफान शेख, शाहनवाज पठान व अरबाज शेख उर्फ मांजरा हिस्ट्रीशीटर है। इनके खिलाफ लूट, चोरी, अपहरण, मोबाइल चोरी के मामले दर्ज हो चुके है। इरफान पासा के तहत भी पकड़ा जा चुका है।

वह रिहा होने के बाद फिर सक्रिय हो गया था। इरफान की ऑटो रिक्शा में तीनों शहर के अलग अलग इलाकों में निकलते थे। अरबाज रिक्शा चलाता था जबकि इरफान और शाहनवाज पिछली सीट पर बैठ जाते थे।

फिर वे शेयरिंग ऑटो का इंतजार करने वाले पैसेन्जरों को रिक्शा में बिठाते और बैठने में दिक्कत होने की बात बता कर का ध्यान भटकाते। इस बीच एक जना मोबाइल व कीमती सामान चुरा लेता। फिर उसे आधे रास्ते में ही उतार कर फरार हो जाते थे।

उनके बारे में मुखबिर से सूचना मिलने पर उन्हें पकड़ा। उनके कब्जे से दस मोबाइल फोन बरामद हुए जिन्हें वे बेचने की फिराक में थे। तीनों ने सलाबतपुरा में दो, उमरा और खटोदरा में एक एक घटना को अंजाम देना कबूल किया है।
----------------

Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned