गणनायक गणेश तेरे रूप अनेक

गणनायक गणेश तेरे रूप अनेक

Sunil Mishra | Publish: Sep, 16 2018 07:25:55 PM (IST) Surat, Gujarat, India

गणपति का रोजाना पूजन, विसर्जन की तैयारियां भी


सिलवासा. गणेश पंडाल और सोसायटियों में विघ्नहत्र्ता मंगलमूति के अनेक रूप देखने को मिल रहे हैं। कहीं रिद्धि सिद्धि के स्वामी को ज्ञान की मूर्ति में प्रकट किया है, तो कहीं कृपानिधान के रूप में। टोकरखाड़ा महालक्ष्मी मित्र मंडल ने शिव खोड़ी की पवित्र गुफा में शिवलिंग को अलंकृत किया है। यहां गणेशजी की 6 फीट ऊंची मूर्ति स्थापति की है। श्रद्धालु रोजाना भगवान को फल-फूल, चावल, रौली, मौली, पंचामृत से स्नान व मोदक, लड्डू का प्रसाद चढ़ाते हैं। बाद में शिव खोड़ी गुफा का अलौकिक आनंद लेते हैं। भस्ताफलिया में आयोजित सार्वजनिक गणेशोत्सव में पार्वती पुत्र को बड़े आसन पर बैठाकर विशेष फल देने के रूप में चित्रित किया है। प्रगति इंडस्ट्रीज में मसाट के राजा को गले में हार पहनाकर सृष्टि के पालनहार के रूप में बताया गया है। यहां भगवान के दर्शनों के लिए दिनभर भक्तों का तांता लगा रहता है।
शहर में मंदिर, सार्वजनिक मैदान, धार्मिक स्थल के अलावा सोसायटी व आवासीय कॉलोनियों में भी गणेशोत्सव किया गया है। आमली के पार्कसिटी, प्रमुख गार्डन, बालाजी मंदिर जाने वाली रोड पर बसी सोसायटियों, दयात फलिया, पिपरिया, उलटन फलिया विस्तार, टोकरखाड़ा की कॉलोनियों, आनंद नगर, सामरवरणी के घरों में श्रद्धालुओं ने गणेशजी को स्थापित किया है। पंडित धनंजय ने बताया कि अधिकांश पंडालों में गणेश के हाथों में उनका एकदंत, अंकुश और मोदक के रूप में चित्रण किया है। घरों में नृत्य मुद्रा, लेटे हुए लम्बोदर, सिंदुरी रंग वाले गणेश प्रतिमा ज्यादा स्थापित हुई हैं।


भारी वाहनों को किया डायवर्ट
गणेश विसर्जन के दौरान शहर में यातायात समस्या से निपटने के लिए पुलिस ने भारी वाहनों के लिए रूट डायवर्ट किए हैं। गणेशोत्सव के पांचवे, सातवें, नौवें एवं ग्यारहवें रोज अपरान्ह तीन बजे से रात 10 बजे तक डायवर्ट रूट से भारी वाहनों को गुजरना होगा। पुलिस के अनुसार मुंबई से खेरड़ी, खानवेल, रखोली, आंबोली, मसाट जाने वाले वाहनों को खानवेल खडोली होते हुए डायवर्ट किया गया है। मुंबई से दादरा, पिपरिया, गलौंडा आवागमन वाले वाहन भिलाड़ से वापी, दादरा, पिपरिया, आमली जंक्शन रूट से गुजर सकेंगे। नरोली जाने वाले वाहन भिलाड़ से जा सकते हैं। वलसाड वापी से खानवेल, खेरड़ी, रखोली, मधुबन विस्तार में जाने वाले वाहनों को वाया तलासरी होकर खेरड़ी खानवेल के रास्ते से जाना होगा। दादरा, पिपरिया गलौंडा, सिली, रांधा , उमरकु ई, सायली जाने वाले वाहनों के लिए वापी से डुंगरा, दादरा, पिपरियां, आमली जंक्शन होते हुए मार्ग चालू रहेगा। गणेश विसर्जन के दौरान शहर के नरोली चार रास्ता शहीद चौक पर होने वाले ट्रैफिक को ध्यान में रखते हुए यह बदलाव किए गए हैं।

Ad Block is Banned